सेक्सी भाभी ने चुदाई के गुर सिखाये

नमस्कार मित्रो, मेरा नाम कुश (बदला हुआ) है. मैं सूरत (गुजरात) का रहने वाला हूं. मैं अन्तर्वासना पर सेक्स कहानियां पिछले 6 सालों से पढ़ रहा हूं. मुझे इसकी कहानियां बहुत पसंद हैं.

अन्तर्वासना पर कुछ सेक्स स्टोरी तो मुझे कल्पना मात्र लगती हैं और कुछ बहुत ही रोमांटिक और सत्य लगती हैं.

मैं बहुत दिनों से अपने गृहस्थ जीवन में उलझा हुआ था. गृहस्थी के कारण मैंने अपने जीवन में केवल 2 ही औरतों के साथ सेक्स किया था. आज जो कहानी मैं आप लोगों को बताने जा रहा हूं वह मेरे पहले प्यार और सेक्स की कहानी है. इस कहानी में मैं अपने पहले सेक्स अनुभव के बारे में बताऊंगा.

यह उन दिनों की बात है जब मैं अपने कॉलेज के शुरूआती दौर में था. कॉलेज में जाते हुए मुझे एक दो महीना ही हुआ था. एक बार ऐसे ही मुझे एक नम्बर से कॉल आया. मेरे लिये वह फोन नम्बर अनजान था.
बात हुई तो कोई लड़की बोल रही थी. मैंने उससे एक दो बातें भी की तो मुझे लगा कि किसी ने गलती से फोन मिला दिया होगा.

फिर कुछ दिन के बाद फिर से उसी नम्बर से मेरे पास कॉल आया. वो लड़की कहने लगी कि उसको मुझसे ही बात करनी है. फिर हमारी थोड़ी बात हुई तो पता लगा कि वो लड़की नहीं बल्कि एक भाभी थी.

कई दिनों तक फोन पर हमारी बातें होती रहीं और धीरे धीरे फिर मिलने का प्लान भी हो गया. मेरे पास बाइक नहीं थी तो वो खुद ही मुझे पिक करने के लिए आने वाली थी.

वो दिन मुझे आज भी याद है जब वो पहली बार मुझसे मिलने के लिए आई थी. उसने एक नीले रंग की साड़ी पहनी हुई थी और काले रंग का चश्मा लगाया हुआ था.

स्कूटी पर बैठी हुई वो मेरा इंतजार कर रही थी. उस समय बारिश हो रही थी. वो लगभग आधी भीग चुकी थी. फिर हम बाद में उसी के घर चले गये.

मैं उसके घर पहली बार गया था. वो अंदर गई और चेंज करके आई. फिर हमने कुछ देर तक बैठ कर बातें की और फिर उसके साथ मैंने कुछ बातें शेयर कीं. उसने भी मेरे साथ अपनी कुछ पर्सनल बातें शेयर कीं.
उसके बाद फिर मेरी क्लास का टाइम हो रहा था, वो मुझे छोड़ने के लिए भी आई.

अब हमारी फोन पर रोज बात होने लगी.

एक दिन उसने फिर से मुझसे मिलने की इच्छा जताई.
मैं उस वक्त तक बिल्कुल वर्जिन था. मैंने कभी सेक्स नहीं किया था. जब दूसरी बार उस भाभी ने मिलने के लिए बुलाया तो उसने मुझे एक स्पेशल गिफ्ट देने की बात कही. मुझे नहीं पता था कि उसका ये स्पेशल गिफ्ट हम दोनों के बीच में सेक्स या पहली चूत चुदाई के रूप में होने वाला है.

जब दूसरी बार मैं उसके घर पर गया तो उसने एक काले रंग की साड़ी पहनी हुई थी. जिसमें वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी. उसकी पतली सी कमर 26 की थी. उसकी साड़ी में से उसके निप्पल भी दिख रहे थे.

कुछ देर तो मैं उसके घर पर हॉल में ही बैठा रहा. फिर उसने मुझे बेडरूम से ही अंदर आने का इशारा किया. जैसे ही मैं उसके बेडरूम में गया तो उसने मुझे बेड पर धक्का दे दिया. बेड पर मैं नीचे जाकर लेट गया.

उसकी इस हरकत से मेरी सांस पतली सी हो गयी. मेरा दिल जोर से धड़कने लगा. मैं इस तरह के हमले के लिए तैयार नहीं था. वो मुझे एकदम से चूमने लगी. मेरे गालों पर, मेरी गर्दन पर, मेरे माथे पर और मेरे कानों पर किस करने लगी. मेरे पूरे बदन पर हाथ फिराने लगी.

फिर उसने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया. मैं भी मर्द था इसलिए मेरा लंड भी खड़ा होने लगा. मैं भी उसका साथ देने लगा. मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. दोनों एक दूसरे के होंठों को पीने लगे.

फिर उसने मेरी शर्ट को खोलना शुरू कर दिया. मेरे होंठों को चूसते हुए वो मेरी शर्ट के बटन खोलने लगी. उसने मेरी शर्ट को उतार कर मुझे नंगा कर दिया. उसके बाद उसने मेरी छाती को चूमना शुरू कर दिया.

वो धीरे धीरे नीचे की ओर बढ़ रही थी. मेरी जीन्स में मेरे लंड का तम्बू तन गया था. उसने मेरी जीन्स के ऊपर से मेरे लंड पर हाथ फिराना शुरू कर दिया. मैं तो पागल सा होने लगा.

उसने मेरे तने हुए लंड को देख लिया. मेरी जीन्स के ऊपर ही मेरे लंड पर हाथ फिराकर उसको सहलाने लगी. उसको चूमने लगी. मेरी जीन्स पर चुम्बन देने लगी. मेरा लंड पूरा फटने को हो गया था.

फिर उसने मेरी जीन्स के बटन खोल दिये. जब उसने जीन्स को निकाला तो मेरे लंड ने मेरे अंडरवियर में चिपचिपा पदार्थ छोड़ना शुरू कर दिया था. उसके बाद वो मेरे अंडरवियर पर से ही मेरे लंड पर हाथ फिराने लगी. मेरा अंडरवियर मेरे कामरस में गीला होने लगा था.

वो बोली- तुम तो अभी से गीले होने लगे हो. थोड़ा सा कंट्रोल तो करना सीखो.
मैं कुछ नहीं बोल पा रहा था.

वो सब कुछ इतनी तेजी के साथ कर रही थी कि मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि कोई औरत किसी मर्द के जिस्म की इस तरह प्यासी हो सकती है.

उसने कुछ देर मेरे लंड को दबा कर देखा और फिर मेरे अंडरवियर को निकाल कर मेरे लंड को भी नंगा कर दिया. अब मैं पूरा नंगा हो चुका था. वो मेरे लंड को हाथ में लेकर उससे खेलने लगी.

कभी वो मेरे लंड के टोपे पर उंगली से सहला रही थी तो कभी मेरे लंड की मुठ मारने लग जाती थी. फिर उसने एकदम से मेरे लंड को पकड़ा और अपने होंठों में अंदर ले लिया. मेरी आह्ह निकल गयी.

सेक्सी भाभी मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. मुझे भी मजा आने लगा. वो जोर जोर से मेरे लंड को चूस रही थी. बिल्कुल कुल्फी की तरह. मैं तो कुछ बोल भी नहीं पा रहा था. बस लंड चुसवाने का मजा ले रहा था.

उसने फिर और तेजी के साथ लंड चूसना शुरू कर दिया और मेरा माल उसके मुंह में ही निकल गया. उसने मेरा सारा माल अपने अंदर ही निगल लिया.

वैसे मैंने इससे पहले हस्तमैथुन कई बार की थी. लेकिन एक औरत के मुंह में वीर्य छोड़ने का सुख पहली बार मिला था जिसका अनुभव सच में बहुत मस्त था.

आमतौर पर मुठ मारने के बाद मेरा लंड सो जाता था लेकिन उस दिन एक बार वीर्य निकलने के बाद लंड में तनाव बना रहा. मैं हैरान था कि ऐसा कैसे हो सकता है. पांच मिनट में ही मेरे लंड में फिर से वैसा ही तनाव आ गया था.

फिर वो मेरे बगल में आ लेटी. मेरे गालों को अपने हाथों के द्वारा प्यार से सहलाती हुई बोली- कैसा लग रहा है?
मैंने उसको एक प्यारी सी स्माइल दे दी.

फिर वो मेरे होंठों को चूमने लगी. काफी देर तक उसने मेरे होंठों का रस पीया और फिर मेरे कानों में कामुक से स्वर में बोली- तुम कुछ नहीं करोगे क्या?

उसके बाद मैं उठ गया. उसने मेरे हाथों को पकड़ा और अपनी चूचियों पर रखवा दिया. मैंने बहुत ही प्यार से उसकी चूचियों को सहलाना और दबाना शुरू कर दिया.

पहली बार मैंने इतनी नर्म चीज को अपने हाथों में लिया था. उसकी चूचियों को मैं बड़े ही प्यार से दबा रहा था. उसने अपनी आंखें बंद कर ली थीं.

वो अब धीरे धीरे उत्तेजित हो रही थी. उसके लाल होंठ खुलने लगे थे और वो सिसकारियां लेने लगी थी. मैंने उसके ब्लाउज को खोलना शुरू किया. जब ब्लाउज निकाला तो देखा कि उसने नीचे से एक सेक्सी काली ब्रा पहनी हुई थी.

उसकी ब्रा में उसके गोरे गोरे बूब्स भरे हुए थे. मैंने उसकी ब्रा को निकाल दिया और उसकी चूचियों को पीने लगा. यह सब अपने आप ही हो रहा था. मैंने इससे पहले सेक्स पोर्न वीडियो में भी ऐसा देखा था.

मैं उसकी चूचियों के निप्पलों को चूसने लगा. उसके दूधों को पीते हुए मुझे अलग ही मजा मिल रहा था. वो सेक्सी भाभी भी मेरे मुंह को अपनी चूचियों पर दबाने लगी थी.

कुछ देर तक उसकी चूचियों को पीने के बाद मैंने उसकी पतली कमर पर किस किया. फिर उसकी साड़ी को खोल दिया. उसके बाद फिर उसकी पेटीकोट को भी खोल दिया.

वो मुझे कातिल नजरों से देख रही थी. अब मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. उसने मुझे एक तरफ धक्का दिया और नीचे लिटा दिया. वो मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी.

उसके बाद उसने अपनी गांड उठाई और मेरे लंड पर अपने चूतड़ों को रगड़ने लगी. फिर उसने अपनी पैंटी निकाल दी और अपनी चूत को भी नंगी कर दिया. सेक्सी भाभी की नंगी चूत देख कर मैं और ज्यादा जोश में आ गया. मगर उसने मुझे उठने नहीं दिया.

वो मेरे लंड पर खुद ही अपनी चूत को रगड़ने लगी. मेरे लंड का हाल बेहाल हो रहा था. मुझे इससे पहले लंड पर चूत का स्पर्श नहीं मिला था. वो मुझे पागल कर रही थी.

फिर वो खुद ही अपनी चूत को मेरे लंड पर रख कर उसको मेरे लंड की तरफ धकेलने लगी. मेरा लंड उसकी चूत में अंदर घुसने लगा. एक दो बार ऐसा करने के बाद उसने अपनी चूत में मेरा लंड आधा ले लिया था.

मेरी आंखें अपने आप ही बंद हो गयी थीं. मैं उस आनंद को महसूस कर रहा था. पहली बार किसी चूत में मेरा लंड गया था. मुझे स्वर्ग सा अनुभव मिल रहा था.

फिर वो धीरे धीरे ऊपर नीचे होने लगी. उसकी गांड को वो मेरी जांघों पर पटकने लगी. चूत में लंड जाने लगा और पच-पच की आवाज होने लगी. चूंकि एक बार मेरा वीर्य निकल गया था इसलिए अब मैं भी ज्यादा देर तक टिकने वाला था.

मैंने उसकी कमर को थाम लिया और उसको लंड पर उछालने लगा. मैं उसकी चूचियों को दबाने लगा. वो मेरे लंड से चुदने का मजा लेने लगी. फिर कुछ देर मेरे लंड पर कूदने के बाद उसने अपनी गांड मेरे सामने उठा दी और घोड़ी बन गयी.

उसकी चूत पर मैंने पीछे से लंड लगा दिया और एक ही झटके में पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. अब मैं धीरे धीरे भाभी की चूत में धक्के देने लगा. वो भी अपनी चूत को आगे पीछे करने लगी.

मैंने उसकी पतली कमर को पकड़ लिया और उसकी चूत को पेलने लगा. अब मेरा जोश बढ़ने लगा था. वो भी शायद झड़ने के करीब पहुंचने वाली थी. मैं तेजी से उसकी चूत में लंड को पेल रहा था.

उसके मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और तेज … कमॉन … आह्ह चोदो.
अपने धक्कों की स्पीड मैंने और तेज कर दी. उसकी चूत किसी भट्टी की तरह तप रही थी.

तभी उसकी चूत से एकदम से गर्म पानी निकलने लगा. उसकी छूट से मैं भी चरम पर पहुंच गया और मेरे लंड ने भी उसकी चूत में गर्म लावा छोड़ दिया. उसको वैसे ही पकड़े हुए मैं उसके ऊपर ढेर हो गया. मैं उसके ऊपर लेट गया. कुछ देर तक मैं लंड को उसकी चूत में देकर पड़ा रहा. फिर मैं उठ गया.

उसके बाद वो भी उठी और मेरे होंठों को चूम कर मुझे आई लव यू बोलने लगी. मैंने भी उसको प्यार किया. फिर हम दोनों साथ में ही सो गये. जल्दी ही मुझे नींद आ गयी. पहली चुदाई की थकान भी बहुत मीठी थी.

जब मेरी आंख खुली तो बाहर जोर से बारिश हो रही थी. मैंने देखा कि वो सेक्सी भाभी मेरी छाती पर हाथ रखे हुए अभी भी सो रही थी. कुछ देर तक मैं उसके चेहरे को देखता रहा.

फिर मैंने उसके होंठों पर हल्का सा किस किया और उससे अलग हो गया. फिर मैंने शावर लिया. जब तक मैं बाहर आया तो वो भी जाग गयी थी. मैंने तौलिया लपेटा हुआ था.

उसने मेरे पास जाते ही मेरा तौलिया खींच दिया और मुझे नंगा कर दिया. फिर हम दोनों ही दोबारा से बाथरूम में घुस गये. वहां पर शावर के मजे लेते हुए हम दोनों ने फिर से चुदाई की.

बाहर आकर फिर उसने मेरे लिए कॉफी बनाई. मैंने उसके साथ कॉफी पी और फिर उसको गुडबाय बोल दिया. मैं फिर अपने घर के लिए निकल गया.

पहली चुदाई के बाद कई दिनों तक मेरे लंड में दर्द होता रहा. साथ में उसकी याद भी आती रही. कई बार फिर हमने फोन पर सेक्स भी किया.

फिर उसके बाद जब हम दोबारा मिले तो मैंने उसको अलग अलग पोज में चोदा. उस सेक्सी भाभी ने मुझे चुदाई के सारे गुर सिखाये. मैं अब सेक्स का आदी हो गया था.

तो दोस्तो, ये थी मेरी पहली सेक्स कहानी. गर्म भाभी के साथ सेक्स के मेरे पहले अहसास की आपबीती. हो सकता है कि आप लोगों में से भी कईयों के साथ ऐसा हुआ हो. आपको मेरे इस अहसास के बारे में कुछ कहना हो तो मुझे अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर बतायें.

अगर आप लोगों को रेस्पोन्स अच्छा रहा तो मैं अपनी कहानी को आगे भी लिखना चाहूंगा.
[email protected]

About Antarvasna

Check Also

टीचर पर दिल आ गया

दोस्तो, मेरा नाम मोहित है, मेरी उम्र 20 साल है. मैं लुधियाना पंजाब से हूँ …