मौसेरे भाई ने मेरी कुंवारी बुर चोद दी

Xxx कज़िन पोर्न कहानी में पढ़ें कि मेरी मौसी के बेटे ने पहले मेरी मम्मी को चोदा. फिर उनकी नजर मेरी कमसिन बुर पर थी. उसने मुझे कैसे चोदा?

दोस्तो, मैं हिमानी सिंह एक बार फिर से अपनी मम्मी की चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ.
मेरी पिछली सेक्स कहानी
मौसा जी और उनके बेटे ने मेरी मम्मी को चोदा

में अब तक आपने पढ़ा था कि मौसा जी और उनका बेटा सोनू मेरी मम्मी को चोदने लगे थे, ये बात मुझे मालूम चल चुकी थी.

अब आगे Xxx कज़िन पोर्न कहानी:

मौसा जी का लड़का सोनू बार बार मम्मी के पास आता और जान बूझकर इधर उधर की कुछ बात करता, जिसके बहाने वो मम्मी की चूचियां दबा सके.
वो मेरी नजर बचा कर मेरी मम्मी की चूचियों को मसल भी देता था और मेरी मम्मी मेरी तरफ़ देख कर उसे मना कर रही थीं मगर वो मान नहीं रहा था.

उसको लग रहा था कि मुझे कुछ नहीं दिखेगा, पर मुझे सब दिख रहा था.
ऐसे ही करते करते दोपहर का टाइम हो गया.

अब मम्मी खाना बनाने चली गईं.
मम्मी ने मुझसे कहा- बेटा तुम रूम में जाओ … और थोड़ी देर के लिए सो जाओ.

मैं ऊपर रूम में जाने के उठी और जाने लगी. जैसे ही सोनू को लगा कि मैं ऊपर चली गई हूँ, सोनू मम्मी के ऊपर कूद पड़ा और मम्मी की मैक्सी निकाल कर अलग कर दी. उसने अगले ही पल मम्मी की ब्रा पैंटी भी हटा दी.

मम्मी भी उसके साथ सेक्स का खेल खेलने के लिए राजी हो गई थीं.

मुझे मालूम चल चुका था कि मेरी मम्मी को अपनी चूत में भिन्न भिन्न किस्म के लंड लेने का शौक है इसलिए वो सोनू के लंड का भी पूरा मजा लेने के लिए मरी जा रही हैं.

मैं उन दोनों की इस चुदाई लीला को जीने के किनारे खड़ी होकर देख रही थी.

मम्मी और सोनू किस करने लगे.
सोनू ने मेरी मम्मी के मुँह में मुँह लगा दिया और होंठ चूसते हुए वो मम्मी के मुँह में जीभ देने लगा.

कुछ ही देर में मम्मी ने अपनी टांगें खोल दीं और सोनू का लंड अपनी चूत में ले लिया.

सोनू ने मेरी मम्मी की चूत को दबा कर चोदा और उनकी चूत में ही झड़ गया.

वो दोनों चूमाचाटी करने लगे और कुछ ही देर में दूसरा राउंड शुरू होने लगा.
इस तरह से सोनू ने मम्मी को दो बार चोदा और दोनों बार मम्मी की चूत में झड़ गया.

चुदाई के बाद मम्मी ने सिर्फ मैक्सी उठाकर पहन ली. ब्रा पैंटी उठाकर बाथरूम में डाल दी.
अब मम्मी पूरी खुश होकर खाना बना रही थीं.

मैं कमरे में चली गई.

शाम को मौसा जी आए.
मौसा जी ने थोड़ी देर बाद सोनू को बुलाया और उसे दारू और आइसक्रीम लाने को भेज दिया.

सोनू जैसे ही गया, मौसा जी ड्राइंग रूम में बैठी मम्मी के पास अपना लंड लहराते हुए पहुंच गए और एक झटके में अपना पूरा लंड मम्मी के मुँह में पेल दिया.
उन्होंने उन्हें जल्दी से उठाकर अपने ऊपर बैठाकर मम्मी की चूत में घपा घप धक्के लगाने शुरू कर दिए.

मम्मी सुबह से बस चुद ही रही थीं. अभी मौसा जी मम्मी को चोद ही रहे थे कि तब तक घंटी बज गई.
सोनू वापस आ गया था.

मम्मी ने जल्दी से मैक्सी पहन कर दरवाजा खोला.
मौसा जी ने सोनू से कहा- तुम दारू यहीं रखो और आइसक्रीम फ्रिज में लगाकर अपने कमरे में जाओ और पढ़ाई करो.

मैं जल्दी से अपने रूम में घुस गई क्योंकि सोनू का रूम मेरे रूम के पास वाला ही था और दूसरी तरफ मौसा जी का.
सोनू रूम में आया और मुझसे बोला- क्या कर रही हो?

मैंने कहा- कुछ नहीं भैया, यहां तो कुछ खेलने को भी नहीं है.
उसे पता था कि नीचे चुदाई चल रही, तो ऊपर कोई नहीं आएगा.

उसने कमरे की कुंडी बंद की और बोला- अरे मुझे बताया होता, मैं तुम्हें खेलने को ढेर सारी चीजें दे देता.
ये कहकर उसने अपना लोअर नीचे किया और अपना लंड निकाल कर मेरे मुँह के पास ले आया.

वो बोला- ये लो, इससे खेल लो.
मैंने कहा- भैया, इससे तो सूसू करते हैं.

उसने कहा- हां इससे सूसू भी करते हैं और इससे खेलते भी हैं.
मैंने कहा- इससे कैसे खेलेंगे भैया?

उसने कहा- जैसे लॉलीपॉप चूसती हो, वैसे ही चूसो इसको, मजा आएगा.
मैंने मम्मी को सोनू का, मौसा का लंड मुँह में लेते देखा था, मुझे पता था ये कुछ बड़े लोगों वाली चीज है.

फिर भी मैंने उसका लंड पकड़ा और चूसने लगी.
वो धीरे धीरे आगे पीछे हो रहा था.
उसका लंड मेरे मुँह के थोड़ा अन्दर तक जाता, फिर थोड़ा बाहर आता.

कुछ देर बाद उसने लंड निकाल कर कहा- अब तुम इसकी पिंक टोपी को जीभ से चाटो.
मैं लंड के सुपारे को जीभ से चाटने लगी. मुझे उसके लौड़े को चाटने के मजा आने लगा.

कुछ देर बाद उसने मुझे बताया कि एक और खेल है मेरे पास.
मैंने कहा- बताओ.

उसने मुझे उठाया और मेरी पैंटी निकाल दी, मेरी छोटी सी चूत को सहलाते हुए बोला- अब मेरा लॉलीपॉप तुम्हारे अन्दर जाएगा, तो तुमको खेलने में और मजा आएगा.

मुझे पता चल गया कि ये मम्मी वाला खेल ही है. मैंने सोचा मम्मी भी तो कर रही हैं, तो मैं भी कर लेती हूँ.
मैंने कहा- ठीक है.

उसने मेरी चूत में अपनी उंगली डाल दी और वो मेरी चूत को फैलाने को कोशिश कर रहा था.
मेरी चूत का छेद बहुत छोटा था.

फिर उसने ढेर सारा थूक मेरी चूत और अपने लंड पर लगाया और अपना लंड मेरी चूत में घुसाने की कोशिश करने लगा.

मुझे दर्द हो रहा था, मैंने कहा- भैया मुझे बहुत दर्द हो रहा है.

उसने कहा- बस जरा सा होगा, फिर नहीं होगा.

उसने बहुत जोर से धक्का मारा और अपना आधा लंड मेरी चूत में घुसा दिया.
मेरी आंखों से आंसू आने लगे.

उसने मेरा मुँह अपने हाथ से बंद कर रखा था तो मेरे चिल्लाने की आवाज किसी को सुनाई नहीं दी.
फिर उसने एक धक्का मार कर पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया.

मेरी चूत फट गई. उसमें से खून आ रहा था.
मैं देख कर डर गई और रोने लगी.

वो मुझसे कहने लगा कि ये खून उसके लॉलीपॉप से निकल रहा है.

और वो धक्के मारने लगा पर मुझे बहुत दर्द हो रहा था.
उसने चालीस पचास धक्के जोर जोर से मारे और मेरे अन्दर ही झड़ गया.

मैं लस्त पड़ी थी और वो अपना लंड बाहर निकाल कर रूमाल से पौंछने लगा.
फिर उसने मेरी चूत रुमाल से पौंछ कर मुझे पैंटी पहना दी.

वो कहने लगा- देखो कुछ नहीं हुआ. अभी दर्द ठीक हो जाएगा. तुम ये सब अपनी मम्मी से मत कहना वरना आगे से तुम्हें मेरे लॉलीपॉप से खेलने नहीं मिलेगा.
ये कहकर वो अपने कमरे में चला गया.

Xxx कज़िन पोर्न में मुझे दर्द तो हुआ था मगर न जाने क्यों मजा भी आया था.
मैं अपने भाई से चुदने का सुख नहीं छोड़ना चाहती थी इसलिए मैं चुप रही.

फिर मैं नीचे गई तो मम्मी और मौसा नीचे ही थे.
मम्मी खाना बना रही थीं और मौसा टीवी देख रहे थे.

मम्मी बहुत खुश दिख रही थीं और मौसा भी!
मुझसे चला भी नहीं जा रहा था.

जैसे तैसे मैं एक दवा खाकर लेट गई.
फिर रात हुई, सब खाना खाकर सोने चले गए.

थोड़ी देर बाद मौसा ही आज भी कमरे में आ गए.
मौसा जी ने मम्मी से पूछा- हिमानी सो गई?

मम्मी ने कहा- हां.
मैं पिछली रात की ही तरह जग रही थी.

मौसा जी ने मम्मी की मैक्सी उतार कर हटा दी. मम्मी ने अन्दर कुछ नहीं पहना था, मम्मी पूरी नंगी थीं.

मौसा जी ने अपना अंडरवियर भी उतार दिया.
अब दोनों नंगे थे.

मौसा जी मम्मी से पूछा- तुम्हें मेरा लंड कैसा लगता है?
मम्मी ने कहा- बहुत दिन से इतना मोटा और बड़ा लंड मेरी चूत में जा रहा है. धर्मेंद्र (मेरे पापा) का लंड तो खड़ा ही नहीं होता है.

मौसा जी ने पूछा- कब से?
मम्मी ने मौसा जी लंड अपने हाथ में पकड़ा और हिलाते हुए कहा- उनका कभी खड़ा ही नहीं हुआ. वो नपुंसक हैं. जब भी उसने मुझे चोदा है, तो हर बार वो दवा खाकर ही मुझे चोद पाया है.

फिर मौसा जी ने हैरान होते हुए पूछा- यदि वो नपुंसक है तो ये तीनों बच्चे किसके हैं?
मम्मी ने बताया कि तीनों बच्चे उनके पुराने बॉयफ्रेंड्स के हैं.

मौसा जी ने पूछा- किसी एक से भी नहीं हैं?
मम्मी ने कहा- नहीं, हिमानी पुराने ब्वॉयफ्रेंड की बेटी है … और बाकी दोनों बुआ के लड़के के लंड का प्रसाद हैं.

मौसा जी ने कहा- तू अपनी बुआ के लौंडे से भी चुद चुकी है, दो बच्चे भी पैदा कर लिए?
मम्मी ने कहा- वो हिमानी के होने के बाद घर आया था और इनका तो खड़ा नहीं होता था. मेरी चूत को लंड चाहिए था, तो जोश जोश में उससे चुद गई थी. फिर राहुल के होने के साल भर बाद वो दुबारा से किसी काम से आया था तो उसने जितने मौके पाए, उतना चोदा.

मम्मी की चूचियां पीछे से पकड़ कर मौसा जी ने जोर से मरोड़ दीं और अपना लंड पीछे से ही उनकी बुर में डाल दिया.

मौसा जी मम्मी को चोदने लगे और साथ ही कहने लगे- साली, तू तो बड़ी खिलाड़ी है रंडी. बॉयफ्रेंड से चुदवा कर बच्चे पैदा कर रही है. हमसे ही चुदवा लेती.
मम्मी बोलीं- मुझे थोड़े ना पता था कि तुम्हारा घोड़े जैसा लंड मेरी बुर में जाने को बेताब है.

मौसा बोले- फिर तो तेरे पति को भी पता होगा कि ये उसके बच्चे नहीं हैं?
मम्मी बोलीं- हां पता है और इसीलिए वो इन्हें अपने बच्चे मानता भी नहीं है.
ये कहकर बात खत्म हुई और चुदाई का सिलसिला चलता रहा.

मेरी पता नहीं, कब आंख लग गई.
सुबह उठी तो देखा कमरे में कोई नहीं है.

मैं कमरे से बाहर निकली.
सोनू के रूम से आवाजें आ रही थीं, तो मैंने धीरे से गेट खोला.

देखा कि मम्मी सोनू के नीचे हैं और सोनू उनकी चूचियां दोनों हाथ से दबाए हुए मम्मी की बुर चोद रहा है.
मम्मी ‘आआह आह …’ करने में लगी हैं और सोनू की गांड पकड़ कर अपने अन्दर लंड घुसवा रही हैं.

कुछ देर बाद दोनों उठे और बाहर की तरफ आने लगे.
मैं दौड़ कर अपने कमरे में घुस गई.

दो मिनट बाद मैं धीरे से बाहर आई तो देखा वो दोनों नीचे ड्राइंग रूम में हैं.
वो दोनों अब भी नंगे ही थे.

मम्मी सोनू का लंड चूस रही थीं और सोनू उनके चूचे हिला रहा था.
मम्मी की चूत मुझे साफ नजर आ रही थी क्योंकि उनकी दोनों टांगें खुली थीं, जिस वजह से उनकी चूत फैली हुई थी और अन्दर की पिंक पिंक दिख रही थी.

सोनू ने उन्हें सोफे पर बैठाया और उनकी दोनों टांगें खोलकर चूत फैला दी.
उसने अपना मुँह मम्मी की चूत में घुसा दिया.

उसके बाद सोनू ने मम्मी को हर पोजीशन में चोदा.

यही सिलसिला चलता रहा.
इस दौरान मैं भी मजे से चुदवाने लगी थी. सोनू ने मुझे पांच बार चोदा था. मैंने भी Xxx कज़िन पोर्न का मजा लिया.

फिर एक महीने बाद हम घर वापस आ गए.

इससे आगे भी चुदाई के कई किस्से हुए, वो फिर किसी दिन सुनाऊंगी. मैं अपने सगे भाई से कैसे चुद गई, वो भी लिखूंगी.

आप मुझे मेल व कमेंट्स से बताएं कि आपको मेरी Xxx कज़िन पोर्न कहानी कैसी लगी.
[email protected]

About Antarvasna

Check Also

फूफा जी के हब्शी लौड़े से चूत की चुदाई करवा ली

दोस्तो, मेरा नाम कोमलप्रीत कौर है, मेरी बहुत सारी सेक्सी कहानियाँ अन्तर्वासना पर आ चुकी …