मां को चोदने के लिए लोगों ने उकसाया-6

जिस औरत रेखा को मैंने रात भर चोदा सुबह का पहला पीरियड उसी के पति अरविंद सर का था। उन्होंने एक बार मेरी ओर घूर कर देखा।

अरविंद: अमित, मेरे केबिन में आकर मिलो।

अमित: यस सर।

बोलने को मैंने यस सर कह दिया, लेकिन डर से मेरा हाल ख़राब हो गया।

विनोद: सर को मालूम हो गया है कि तुम उनकी घरवाली से मिलना चाहते थे। बेटा, अब तू काम से गया। ये आदमी तेरा रिज़ल्ट ख़राब कर देगा।

अरविंद को सिर्फ़ यही नहीं मालूम हुआ कि अमित ने रेखा से बात की थी। उसने दोनों की तीसरी राउंड की पूरी चुदाई भी देखी। क़रीब 2 घंटा एक कोने में खड़ा होकर उसने देखा कि उसकी घरवाली 12 साल बाद भी पहले जैसी ही चुदासी और मस्तानी थी। रेखा ने उपर से अमित को चोदा। दोनों सिर्फ़ एक बार ही झंडे लेकिन घरवाली की चुदाई देखते-देखते अरविंद तीन बार झड़ गया।

अमित को मेन गेट तक सी-आफ करके जब रेखा अंदर घुसी तो देखा कि अरविंद सामने खड़ा था। पहले तो रेखा बहुत डर गई। लेकिन तुरंत ही उसने अपने को संभाला। उसने चार्ज किया-

रेखा: तुम्हारे सामने तुम्हारा एक स्टूडेंट तुम्हारी घरवाली को चोद रहा था। उसे मारने या डांटने के बदले कोने में खड़ा होकर लौड़ा हिला रहे थे। घरवाली को दूसरे से चुदवाते देख बहुत मज़ा आ रहा था ना? मुझे तो तुम्हारे सामने दूसरे से चुदवाते में बहुत ही ज़्यादा मज़ा आया। और क्या स्टामिना है छोकरे में।

रेखा: पहले तुम्हारे बग़ल में बूर चाटने के बाद 50 मिनट चोदा। मेरा जी नहीं भरा तो सोफ़ा पर कुतिया बना कर आधे घंटे से ज़्यादा कुत्ते जैसा बूर चाटा और फिर 50 मिनट चोदा। हम दोनों को और चाहिए था तो आख़िर में मैंने उसे चोदा। तुमने तो देखा ही उसने डेढ़ घंटा संभाला।

अरविंद ये सोच रहा था कि रेखा को नहीं मालूम था कि वो चुदाई देख रहा था। लेकिन रेखा ने उसे बेडरूम से निकलते देख लिया था।

अरविंद: कब से ये रंडीपना चल रहा है? कितना रेट रखा है अपना? कल ही उस मादरचोद को कॉलेज से निकलवा दूंगा।

अरविंद की बात सुन कर रेखा को बहुत ग़ुस्सा आया।

रेखा: मैं आज पहली बार ही तुम्हारे सिवा किसी और के सामने नंगी हुई। लेकिन तुम तो  8 साल से रमा को चोद रहे हो। अगर अमित का तुमने कुछ भी नुक़सान किया तो कल ही सारे कॉलेज को मालूम हो जायेगा कि तुम हेडमास्टर की बेटी संगीता को 2 साल से चोद रहे हो, रमा को  8 साल से चोद रहे हो, और मुझे अमित से चुदवाने के लिए मजबूर किया। मैं तो बदनाम होऊंगी ही, तुम भी कहीं के नहीं रहोगे। मैंने तुम्हारे लिए कितनी बदनामी सही, घरवालों से रिश्ता तोड़ लिया, और तुम शुरु से ही नौकरानी को चोदते रहे। अब मैं भी अमित से बार-बार चुदवाऊंगी।

रेखा का तेवर देखकर 40-42 साल का अरविंद घबरा गया। उसे लग रहा था कि संगीता को चोदने वाली बात किसी और को मालूम नहीं थी, लेकिन रेखा जानती थी। रेखा ने संगीता की चुदाई की बात ऐसे ही कही थी, अंधेरे में तीर चलाया था। लेकिन तीर सही निशाने पर बैठा था।

अरविंद: रेखा रानी, यह ज़रूर है कि मैं दूसरों को चोदता हूं। संगीता को तीन दिन पहले ही चोदा था। लेकिन तुम्हें कैसे मालूम हो गया? मैं यहां की कुछ और औरतों को चोदता हूं, लेकिन प्यार तो सिर्फ़ तुमसे ही करता हूं। मुझे ये देख कर बहुत ही ज़्यादा ग़ुस्सा आया कि किसी और ने मेरी रानी को चोदा। लेकिन अगर तुम कसम खाओ कि अमित के सिवा किसी और से नहीं चुदवाओगी, तो मैं अमित का कुछ नुक़सान नहीं करूंगा। लेकिन आगे से वो तुम्हें सिर्फ़ तभी चोदेगा जब मैं घर में रहूंगा।

रेखा को अपने कानों से सुन कर भी विश्वास नहीं हो रहा था कि उसने अमित से चुदवाने की परमिशन दे दी थी। लेकिन रेखा अब अपने लिए चुदाई का रास्ता खुला रखना चाहती थी। उसने अरविंद को गले लगा कर चूमा।

रेखा: तुम्हें भी मैं खुली छूट देती हूं कि जिसे चाहे चोदो। अमित सिर्फ़ अगली मई तक है, उसके बाद भी तो मुझे बढ़िया चोदने वाला चाहिए।

अरविंद ने पत्नी को सोफ़ा पर लिटाया और सुबह-सुबह रेखा की बूर में लंड रेल कर चोदने लगा।

अरविंद: ऐसा ही होता है। जब एक बार चुदाई की चसक लग जाती है, तो छूटती नहीं। चलो तुम्हें भी छूट देता हूं। कॉलेज के स्टाफ़ के अलावा तुम जिससे चाहो चुदवाओ। अगले रविवार को तुम्हें शहर ले जाकर कुछ लोगों से मिलाऊंगा। रानी, 12 साल से तुम्हें चोद रहा हूं, तुम्हारे अलावा कम से कम 25 माल को, कॉलेज की लड़कियों को भी चोदा है। लेकिन तुम्हारी जैसी बढ़िया रंडी और कोई नहीं।

उस रात रेखा ने पहली बार चार बार चुदवाया। अरविंद सही में रेखा की अमित के साथ की चुदाई से दुखी नहीं था। वास्तव में अरविंद को लगने लगा था कि 12 साल में उसने रेखा का सब कुछ चूस लिया था। रेखा की बूर ढीली हो चुकी थी। इसके अलावा अरविंद के हाथ में कई और माल आ गई थी, और उन सब में सबसे ख़ास थी हेडमास्टर की 19 साल की बेटी संगीता।

तब तक एक बार ही चोदा था, लेकिन अरविंद को विश्वास था कि रेखा की तरह संगीता भी उसे बहुत पसंद करेगी। अरविंद यह भूल गया था कि जब उसने रेखा को पहली बार चोदा था, उस समय वह 26 साल का ही था, लेकिन संगीता को चोदने के समय 38 साल का हो गया था। संगीता 2 और लोगों से चुदवा चुकी थी। जब क्लास में अमित ने उसे विषैला सांप से भी ख़तरनाक कहा तभी संगीता ने फ़ैसला कर लिया था अपना विषैला ज़हर अमित के लंड को जल्द से जल्द पिलाएगी।

रीसेस में मेस से खाना खाकर रुम में वापस आया तो देखा कि उसके नाम का एक लिफ़ाफ़ा था। अमित ने लिफ़ाफ़ा उठा कर देखा और होंठों से उसे चूमा। लिफ़ाफ़ा चूमते हुए अमित अपना लंड भी सहलाता रहा। यह उसकी मां इन्दिरा की चिट्ठी थी। अमित ने बेड पर बैठ कर लिफ़ाफ़ा खोला और चिट्ठी पढ़ने लगा।

मां ने बच्चे के लिए प्यार भरी बातों के अलावा जो लिखा था, वो था, “बेटा, यह पढ़ कर बहुत बढ़िया लगा कि तुम्हें अपनी बहन की चिंता है कि वो अपने बाप से चुदवा लेगी। क्या पता बाप के अलावा दूसरों से भी चुदवाती हो। मैंने भी अनीता के कई बार नरेंद्र के साथ देखा है। वो लड़का वैसे मुझे अनीता के लिए पसंद है। लेकिन तुम्हारी बहन अभी 3-4 साल और शादी नहीं करेगी। बेटा, आज-कल की लड़कियों के उपर कंट्रोल करने से कोई फ़ायदा नहीं।

वे अगर चुदवाना चाहेगी तो कहीं भी किसी से भी चुदवा लेगी। तू अपना बोल, अभी तक किसी को चोदा है कि नहीं? अगर नहीं चोदा है तो पटा कर चोद, और नहीं पटी सकता है तो माल को ख़रीद कर चोद। या सिर्फ़ अपनी मां को ही चोदने के लिए लौड़े को संभाल कर रखा है? तू अगर मेरा सगा बेटा नहीं होता तो अब तक तेरे घोड़े जैसा लंबा और मोटा लंड बार-बार अपनी बूर के अंदर रखती। बेटा, तेरे सभी राज को राज ही रखूंगी। लेकिन बेटा जिसे भी चोदेगा मुझे उसके बारे में पूरा डिटेल से लिखना। तेरी चूदाई के क़िस्से पढ़ने के लिए बेताब हूं।”

अपनी मां की गंदी चिट्ठी पढ़ते हुए अमित को पता ही नहीं चला कि वो कब नंगा हो गया। चिट्ठी पढ़ते हुए लंड भी हिला रहा था। मां ने यह भी लिखा था कि उसने उसके बैंक अकाउंट में बहुत रुपया भी ट्रांसफ़र कर दिया था।

उसने एक लाईन लिखी थी,

“कुंवारी लड़की, जवान लड़की को सभी चोदना चाहते है, लेकिन असल मज़ा एक-दो बच्चे वाली यानी मेरी जैसी औरत को चोदने में ही आता है। मां को चोदना बहुत बड़ा पाप हैं लेकिन देखें तू अपनी मां को, बहन को पटा कर चोद सकता है कि नहीं। मैं अपनी तरफ़ से तुझसे चुदवाने की कोशिश नहीं करुंगी, और तुझे बता दूं तेरी मां जैसी चुदाई की मस्ती बहुत ही कम औरत दे सकती है।

जल्दी से अपनी चुदाई के बारे में लिख। तेरी मां की चूत चुदवाने के लिए हमेशा गीली रहती है। हां, एक बात और, औरत हो या जवान लड़की, कोई भी खूबसूरत लड़के को नहीं, हिम्मती लड़कों को पसंद करती है। उससे ही चुदवाना चाहती है। तेरी हेडमास्टर की छोटी बेटी संगीता बहुत ही गरम माल है। पिछली बार वो मुझसे चुदाई की बात कर रही थी। उसे भी तेरा बाप पसंद आ गया था। तू उससे मिल, मुझे विश्वास है कि वो तुमसे जल्दी चुदवा लेगी। अपने लंड को अपनी मां की प्यारी बूर का प्यार देना। तेरे लंड की प्यासी मां।”

इसके आगे की कहानी अगले पार्ट में।

About Antarvasna

Check Also

मां को चोदने के लिए लोगों ने उकसाया-14

पिछला भाग पढ़े:- मां को चोदने के लिए लोगों ने उकसाया-13 संगीता के जाने के …