दोस्त की पुत्रवधू के साथ थ्रीसम सेक्स

Xxx पोर्न हिंदी कहानी में मैंने एक आदमी के बुलावे पर उसके साथ मिल कर उसकी पुत्रवधू को जमकर चोदा उसी के घर में! उसकी बहू भी पूरी चुदक्कड़ थी.

दोस्तो, मेरी पिछली कहानी
अन्तर्वासना पर मिले दोस्त के साथ मस्ती
में आपने पढ़ा कि मैंने अन्तर्वासना पर मिले 53 साल के कमल के साथ एक रंडी बुलाकर थ्रीसम सेक्स किया।
वो शुभी क्रॉस ड्रेसर की गांड भी चोदता था और अब मैंने भी शुभी को लंड चुसवाना शुरू कर दिया था।

कमल ने फिर मुझे अपने घर खाने पर बुलाया तो मैं उसकी बहू की चूत चुदाई के बारे में सोचकर खुश हो गया।

अब आगे की Xxx पोर्न हिंदी कहानी:

निर्धारित समय पर मैं कमल के घर पहुंचा, कमल मुझे अंदर ले गया.
उसने अपनी बीवी से मुझे मिलवाया जिसकी उम्र 48 साल होगी।
उसके बाद उसने अपनी बहू साक्षी से मिलवाया।

साक्षी ने सलवार सूट पहन रखा था, जिसमें वो माल लग रही थी।
साक्षी का फिगर बहुत कामुक था, किसी मॉडल को टक्कर देने वाले बदन की मालकिन थी वो!

कमल ने अपना दिमाग लगाया और मुझे छत पर ले गया क्योंकि उसकी बीवी नीचे थी तो कुछ काम पड़ने पर साक्षी ऊपर आती।
उसने ऊपर जाते हुए अपनी बहू को नाश्ता पानी ऊपर लाने को बोल दिया।

कमल मुझे छत वाले रूम में ले गया जहां सोफा और कुर्सी लगी हुई थी.
हम दोनों सोफे पर बैठ कर बात करने लगे।

थोड़ी देर बाद साक्षी चाय नाश्ता ले कर आई, उसने टेबल पर नाश्ता रख दिया।

कमल ने साक्षी को खींचकर अपनी गोद में बैठा लिया।
साक्षी थोड़ी शर्मा गई; वो अपनी नज़र चुराने लगी।

कमल ने बेशर्मी के साथ साक्षी को अपनी रखैल बोल कर परिचय करवाया।
उसने साक्षी के होंठों पर हल्के से किस किया और उसके चूचों को भी मसल दिया।

साक्षी का चेहरा शर्म से लाल हो गया था।
वो उठ कर नीचे चली गई।

नाश्ता करते हुए उसने साक्षी के बारे में पूछा कि कैसी लगी?
मैंने थोड़ी तारीफ कर दी।
वो बोला कि वो साक्षी को रंडी की तरह चोदना चाहता है, जिसमें साक्षी लेस्बियन सेक्स भी करे और 3-4 मर्दों से एक साथ चुदे।

मैंने कमल से साक्षी की सहमति के बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो तैयार है।
उसने कहा कि वो शुभी गांडू की चुदाई, होटल में रंडी की चुदाई आदि सब के बारे में जानती है।
यहां तक कि मेरे आने में भी साक्षी की सहमति शामिल थी।

फिर मैंने उससे आज की चुदाई का प्लान पूछा तो उसने मना कर दिया क्योंकि उसकी बीवी आज घर में ही थी।
कमल भी जान गया था कि मैं साक्षी को चोदने के मूड में आ चुका हूं।

फिर उसने साक्षी को व्हाट्सएप पर मैसेज किया और वो ऊपर आ गई।
साक्षी पानी की बॉटल लेकर ऊपर आई।

वो मेरे बगल में आ कर बैठ गई.

मैं समझ गया कि कमल ने मेरे लिए उसे ऊपर बुलाया है।
मैंने भी देर नहीं की और उसे अपने गोद में बैठा कर किस करने लगा।
मैं उसके दोनों चूचों को ऊपर से ही मसलने लगा।

साक्षी ने डिजाइनर सलवार कमीज पहन रखी थीं जिसमें चूचों के पास लगभग 10 बटन थे, जिनको साक्षी ने खुद खोलना शुरू किया।
मैंने भी बटन खोलना शुरू किया और सारे बटन तुरंत खोल दिए और कमीज को कंधे के पास से नीचे सरका दिया।

अब ब्रा में कैद उसकी चूची दिखने लगीं तो मैं ब्रा के अंदर हाथ डाल कर चूचियों को दबाने लगा।

दोस्तो, चोरी चुपके सेक्स करने में एक अलग ही मजा आता है, पकड़े जाने का डर आपको रोमांचित करता है।
आपको 5 मिनट में सब करना होता है, आप सिर्फ किस करते हो, आप कपड़े भी सिर्फ काम चलने भर उतारते हो जिससे लन्ड चूत में चला जाए, किसी की हल्की आहट पर आप कपड़े पहन लेते हो।

कमल ने पीछे से ब्रा का हुक खोल दिया जिससे साक्षी के नंगे चूचे मेरे सामने आ गए।
मैंने एक चूचे को मुंह में ले लिया, दूसरे को मसलने लगा।

5 मिनट का खेल चला, फिर साक्षी उठ कर अपनी कमीज का बटन लगाते लगाते नीचे जाने लगी।
उसने हड़बड़ी में ब्रा वहीं छोड़ दी।

ससुर के सामने बहू दूसरे मर्द से चूची चुसवा कर चली गई थी।

मेरा लन्ड खड़ा हो गया था।
कमल ने ये देखते हुए कहा कि मैं साक्षी की ब्रा गंदी कर सकता हूं, साक्षी बुरा नहीं मानेगी।

मैंने अपना लन्ड निकाला और साक्षी की ब्रा को लन्ड में फंसा कर मुठ मारने लगा।

मेरा माल निकलने को हुआ तो मैंने ब्रा के कप में अपना माल गिरा दिया।
मैंने कमल से साक्षी को बुला कर ब्रा पहन लेने को बोला तो कमल ने भी मुठ मार के दूसरे कप में माल गिरा दिया।

उसने साक्षी को बुलाया और ब्रा की तरफ इशारा किया तो उसने कमीज को नीचे कर दिया जिससे कि वो ब्रा पहन सके।
मैं ब्रा पहनाने के लिए आगे बढ़ा।

जैसे ही साक्षी ने ब्रा को अपने चूचों में सटाया, उसे गीलेपन का अहसास हो गया।
वो समझ गई कि ब्रा में माल गिराया गया है।

मैंने उसे बताया कि दाईं तरफ मेरा माल है और बाईं तरफ कमल का माल है।

साक्षी ने मेरे माल को अपने उंगली पर लेकर टेस्ट किया और नीचे चली गई।

वो साली एक चुदक्कड़ किस्म की लड़की थी। वो अपने पति, ब्वॉयफ्रेंड, ससुर से चुद रही थी।
मेरा लन्ड चौथा था, जो उसे मिलने वाला था।

मैंने और कमल ने बहुत देर बात की।
खाना बन कर तैयार हो गया था, मैं और कमल नीचे गए।
चारों ने साथ में खाना खाया।

मैं और कमल फिर से छत पर आ गए, मैंने कमल से कुछ जुगाड़ लगाने को बोला जिससे कि मैं साक्षी को चोद सकूं।

कमल ने अपना दिमाग लगाया कि मैं साक्षी को बाथरूम में चोद दूं, उसने व्हाट्सएप पर साक्षी को सब प्लान बता दिया।

कमल अपनी बीवी के पास चला गया और उसने बोल दिया कि वो खाकर थोड़ी देर आराम करने के लिए सो रहा है।

उसने मुझे पहले से नीचे के बाथरूम में रहने को बोल दिया और फिर उसने साक्षी को बाथरूम में भेज दिया।

मैंने साक्षी को बाथरूम में घुसाया और दरवाजा बंद कर दिया।

किस करते हुए मैंने अपनी जींस और साक्षी की सलवार को आधा खोल दिया जिससे कि चुदाई हो सके।
उसने लाल रंग की पैंटी पहनी हुई थी।

हमारे पास ज्यादा समय नहीं था तो मैंने उसकी पैंटी को खोल दिया।
उसकी चूत पर बाल नहीं थे।

मैंने 2 उंगली डाल कर अंदर बाहर किया और अपना चड्डी भी नीचे कर दी जिससे मेरा लन्ड बाहर आ गया।

तब मैंने साक्षी को लन्ड चूसने का इशारा किया तो वो झट से नीचे बैठ कर लन्ड को चूसने लगी।

1 मिनट तक मैंने उसके मुंह को चोदा।

मैंने उसे बाथरूम का बेसिन पकड़ कर झुकने को बोला।
वो झुक गई तो मैंने पीछे से उसकी चूत में लन्ड पेल दिया और धक्के मारने लगा।

बिना आवाज किए बाथरूम में चुदाई चल रही थी।
मैं झड़ने के मकसद से फुल स्पीड में चोद रहा था जिसके कारण 3-4 मिनट की चुदाई में मैं झड़ गया।

हम दोनों ने अपने कपड़े पहने और कमल से माहौल पता किया।

उसके बाद मैं बाथरूम से निकल कर छत पर चला गया।
साक्षी भी बाथरूम से निकल कर अपनी सास के आस पास रहने लगी।

कमल ने मुझे घटना पूछी तो मैंने बता दिया कि बेसिन पर झुका कर चोद दी।

उसने कहा कि वो भी चुदाई देखना चाहता था और चोदना भी चाहता था।
मैंने कहा कि अगली बार बढ़िया प्लान करना, फिर सब होगा।

फिर उसके घर से निकलते हुए मैं साक्षी को आंख मारकर चला गया।

घर जाकर मैंने कमल को कहा कि साक्षी से बात करवा दे, मुझे उसकी याद आ रही है।
कमल ने पहले वादा लिया कि मैं छुपकर साक्षी के साथ कुछ न करूं और जो कुछ करूं वो सब कमल के सामने ही हो।
मैंने भी वादा कर दिया।

तब मैंने साक्षी को कॉल किया और हमारी बात शुरू हो गई।
साक्षी ने मुझे साफ़ बोल दिया कि उसके पति के होने पर कॉल या मैसेज भूल से भी ना करूं।

उसने मुझे बताया कि उसे कमल से चुदने में मज़ा नहीं आता है लेकिन कमल ने उसे ब्वॉयफ्रेंड से चुदते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया था जिसके बाद कमल ने उसे डरा धमका कर चोद दिया।

कमल की इच्छा थी कि साक्षी, उसका बॉयफ्रेंड और कमल थ्रीसम सेक्स करें।
लेकिन साक्षी को डर था कि उसका बॉयफ्रेंड किसी को बता देगा तो साक्षी की बहुत बदनामी होगी।
उसने बताया कि उसका पति सनी शनिवार और रविवार को घर आता है और साक्षी को पूरी रात चोदता है, चूत और गांड, दोनों की हालत खराब कर देता है।

उधर कमल की ख्वाहिश कुछ अलग ही थी।
सनी से चुदने के बाद साक्षी को अपने पास बुला कर चोद देता था।
कभी कभी तो सनी के पास जाने से 5 मिनट पहले कमल उसे चोद देता था।

कमल का थ्रीसम सेक्स का सपना पूरा नहीं हो पा रहा था लेकिन साक्षी को एक रात में दोनों लन्ड लेने पड़ते थे।

मैंने साक्षी से लेस्बियन सेक्स, थ्रीसम सेक्स, ग्रुप सेक्स के बारे में पूछा तो उसने अपनी सहमति बताई और कहा कि उसे 1 बार करके देखना है।
उसकी भी इच्छा थी कि 5 मर्द उसे एक साथ चोदें।

मैंने साक्षी को बता दिया कि अगली बार जब मिलेंगे तो मैं और कमल मिल कर चोदेंगे।
अब बस मौके का इंतजार था।

लगभग 2 महीने के बाद हमें मौका मिला जब कमल की बीवी को एक फैमिली फंक्शन में जाना था।

हम लोगों ने प्लान बना लिया कि सास के जाते ही ससुर बहू की थ्रीसम चुदाई शुरू होगी।
साक्षी के लिए मैंने 2 सेट सेक्सी ब्रा पैंटी और कमल की फरमाइश पर सेक्सी नर्स का, और एक स्कूल ड्रेस खरीद लिया, जैसे ब्लू फिल्म में पोर्न एक्ट्रेस पहनती हैं।

मैंने अपने लन्ड के बालों को साफ कर लिया और तैयार हो कर कमल की बताई हुई जगह पर पहुंच गया।

कमल अपनी बीवी को रिश्तेदार के घर छोड़ कर मेरे पास आ गया और मुझे अपने साथ घर ले गया।

साक्षी ने दरवाजा खोला और हम लोग अंदर आ गए।
उसने सिर्फ एक नाइटी पहनी हुई थी और बहुत फ्रेश लग रही थी।

मुझे कमल छत पर बने एक रूम में ले गया जहां से आवाज बाहर नहीं जाती थी।
रूम में पलंग लगा हुआ था।

मैं पलंग पर लेट गया।

कमल ने टीवी पर ब्लू फिल्म चला दी जिसमें स्कूल गर्ल को 7 लोग चोद रहे थे।

साक्षी रूम में आ गई।
वो एक सेक्सी स्कूल गर्ल बन कर आई थी।

उसने लाल और सफेद रंग की स्कर्ट पहनी थी, जो उसकी जांघों तक थी।
उससे उसकी लाल पैंटी भी ढक नहीं रही थी।

उसने सफेद रंग की शर्ट पहनी थी जिससे उसकी ब्रा भी नहीं ढक रही थी।
ब्रा का साइज भी बहुत छोटा था; आधी से ज्यादा चूचियां बाहर थीं।

साक्षी ने हाई हील सैंडल पहनी हुई थीं।
उसने 2 चोटी भी बनाई थीं जैसे स्कूल गर्ल बनाती हैं।

साक्षी दरवाजे पर खड़ी थी।
कमल ने उसे डॉगी स्टाइल में होकर रूम में घूमने को बोला।

साक्षी डॉगी बन गई और उसने जीभ को निकाल लिया।
उसकी गांड का साइज उभर कर सामने आने लगा।

जब वो हमारी तरफ़ चल के आती तो उसकी चूचियों के दर्शन होते, घूम के वापस जाती तो गांड के दर्शन करवाती।

मैंने उंगली से इशारा कर के साक्षी को बिस्तर पर बुलाया।
वो बीच में आ कर लेट गई।

मैं और कमल उसके चूचों को मसलने लगे।
साक्षी के चूचों को मसलते ही मैं उसको किस करने लगा।

मैं साक्षी के होंठो को काट रहा था, उसकी जीभ को चूसते चूसते दांत गड़ा देता था जिससे वो चिहुंक उठती थी।

कमल भी उसके चूचों को मसलते हुए थप्पड़ मारने लगा था, जिससे कि चूचों पर उंगली के निशान पड़ने लगे।

अब मैं नीचे लेट गया और साक्षी को डॉगी स्टाइल में अपने ऊपर ले लिया।
साक्षी के चूचे मेरे मुंह के पास लटक रहे थे।

मैंने बारी बारी से दोनों चूचों को चूसना शुरू किया।

अभी तक साक्षी से बदन से एक भी कपड़ा अलग नहीं हुआ था; बस उसकी ब्रा को नीचे करके चूचों को बाहर निकाला गया था।
फिर मैं खड़ा हो गया और मैंने अपना लन्ड निकाल कर साक्षी के मुंह में दे दिया।

कमल भी अपना लन्ड निकाल कर साक्षी के गाल पर रगड़ने लगा।

साक्षी बारी बारी दोनों लन्ड चूसने लगी, साक्षी लन्ड पर थूक लगा कर चूस रही थी।

अब कमल ने भी अपना लन्ड मेरे साथ ही उसके मुंह में डालने की कोशिश की।
साक्षी ने एडजस्ट करके दोनों लन्ड मुंह में ले लिए लेकिन वो मुंह में फंस गए।

अब वो चूस नहीं पा रही थी और न ही हम लोग उसके मुंह को चोद पा रहे थे।
साक्षी का मुंह लाल होने लगा था और आंखें भी बड़ीं होने लगी थीं।
उसके मुंह में दर्द होने लगा था।

मैंने अपना लन्ड बाहर निकाल लिया और गाल पर रगड़ने लगा।

कमल ने साक्षी के चेहरे पर थूक दिया और मुंह को चोदना शुरू कर दिया।

कमल के थूक को मैंने अपने लन्ड से साक्षी के पूरे चेहरे पर रगड़ दिया।

तभी कमल मुंह को चोदते हुए मुंह में ही झड़ गया और हट गया।

अब कमल ने चूचों पर थूकना और थप्पड़ मारना शुरू कर दिया।

लगभग 15 दिन से मैंने मुठ नहीं मारी थी तो मैंने साक्षी के मुंह में सैलाब लाने का निर्णय लिया।
मैंने साक्षी के मुंह की चुदाई शुरू कर दी।

मैं पहले भी बहुत देर तक लन्ड चुसवा चुका था तो जल्द ही लावा उसके मुंह में फूट पड़ा और उसका मुंह मेरे माल से लबालब भर गया।
साक्षी उठ कर बाथरूम जाना चाहती थी लेकिन मैंने उसे रोक कर माल पीने को कह दिया।

उसने मना कर दिया कि इतना वीर्य वो नहीं पी पाएगी।
तो उसने कुछ वीर्य अपने चूचों पर गिरा दिया, कुछ उसने अपने हाथ में ले कर अपने चेहरे पर लगा लिया और फिर बचा हुआ माल पी गई।

साक्षी का चेहरा और बूब्स देख कर लग रहा था कि 5-7 लोगों ने गैंग बैंग किया हो और सबने उसके बदन पर मुठ मारी हो।

पसीना, थूक और वीर्य उसके बदन पर दिख रहे थे।

मेरा और कमल का लन्ड झड़ चुका था।

मैं भी टाइम पास करने के लिए साक्षी की गांड को मसलने लगा और जोर से 8-10 थप्पड़ जड़ दिए।

उसकी गांड पर उंगलियों के निशान पड़ गए।

साक्षी को मैंने पलट कर लेटा दिया जिससे उसकी चूत सामने आ गई।
मैंने उसकी पैंटी को खोला और उसकी चूत को चाटने लगा।
वो भी कमर उठा उठाकर चूत चटवा रही थी।

मैं उसकी चूत में उंगली डाल कर जीभ से चूस रहा था।
वो भी पूरे मजे ले कर मेरे बालों को सहलाते हुए मेरे सिर को चूत में दबा रही थी।

दस मिनट की चूत चुसाई के बाद वो झड़ गई और मैं उसकी चूत के नमकीन पानी को पी गया।
कमल साक्षी के चूचों पर लन्ड रगड़ कर अपने लन्ड को खड़ा करने में लगा हुआ था।

मैं अब पोज बदलते हुए खुद नीचे लेट गया और साक्षी को ऊपर कर के 69 पोज में अपना लन्ड चुसवाते हुए साक्षी की चूत चूसने लगा।

मेरा लन्ड खड़ा हो गया तो मैंने साक्षी को हटा दिया और उसे अपने लन्ड पर बैठने को बोला।
साक्षी मेरे लन्ड पर बैठ गई और कूदने लगी।

कमल का लन्ड पूरी तरह से खड़ा नहीं हुआ था तो उसने अपना लन्ड साक्षी के मुंह में दे दिया।

मैं साक्षी की कमर पकड़ कर उसे कूदने में मदद करने लगा।
कमल चूचों को दबाते हुए लन्ड चुसवाता रहा।

10 मिनट की चुसाई के बाद कमल का लन्ड खड़ा हो गया तो वो पीछे से गान्ड में लन्ड डालने लगा।

लन्ड पूरी तरह से खड़ा नहीं हुआ था जिससे गान्ड में वो घुस नहीं रहा था, तो मैंने जगह बदलने को बोला।

अब कमल नीचे लेट गया और साक्षी उसके लन्ड पर बैठकर चूत में लंड लेकर चुदने लगी।

कमल ने उसे आगे झुकाकर चूमना शुरू किया तो मैं साक्षी के ऊपर चढ़ गया और गांड पर लन्ड को रगड़ने लगा।
साक्षी को पता था कि दोनों छेद की साथ में चुदाई होगी।

मैंने गांड के छेद पर अपना सुपारा लगाया और एक झटके में आधा लन्ड गांड में पेल दिया।

साक्षी के होंठ कमल के मुंह में थे तो वो चीख नहीं सकी और बेहोश हो गई।
हम लोग घबरा गए।
हमने उसके मुंह पर पानी मारा तो उसे होश आया और थोड़ी देर हम लोगों ने आराम किया।

कुछ देर बाद सब नॉर्मल हुआ तो हम फिर शुरू हुए और साक्षी ने लंड चूसकर खड़ा किया।

अब उसने मुझे गांड चोदने को कहा तो मैंने डॉगी स्टाइल में उसकी गांड मारनी शुरू की।
गांड चुदाई करवाते हुए वो कमल का लंड भी चूस रही थी।

अब उसने चूत में लंड लेने को कहा तो कमल नीचे लेट गया और वो उसके लंड पर बैठ गई।
वो एक मस्त रांड के जैसे दोनों लंड लेने लगी।

10 मिनट तक साक्षी को सेंडविच बना कर चोदने के बाद मैंने और कमल ने अपनी जगह बदल ली।

अब मैं चूत चोद रहा था और कमल गांड मार रहा था।

5 मिनट की चुदाई के बाद कमल ने साक्षी की पीठ पर अपना माल गिरा दिया।
कमल अब बगल में लेट गया।

मैंने अब साक्षी को डॉगी स्टाइल में कर दिया और चूत में लन्ड पेल दिया।

साक्षी की चूत और गांड पूरी खुल चुकी थी।
मैंने चूत में से लन्ड निकाला और एक झटके में पूरा लन्ड गांड में ठोक दिया।

मैंने धीरे धीरे चुदाई करते हुए चूत और गांड को साथ में 10 मिनट तक चोदा।
साक्षी अब चुदने के हालत में नहीं थी तो उसने मुझसे झड़ने को बोल दिया।

मैंने साक्षी को नीचे लेटा दिया और उसकी चूत में लन्ड पेल दिया और तेजी में चोदने लगा।

जब मैं झड़ने वाला था तो मैंने चूत से लन्ड निकाल कर उसके चूचों और नाभि पर मुठ मार दी और पेट पर अपना माल झाड़ दिया।

हम बेड पर लेट गए।
साक्षी स्कूल ड्रेस में थी और उसके चूचों पर माल लगा था। उसकी गांड और चूत लाल होकर सूज गई थीं।
अब अगले 4-5 दिन वो अपने पति से नहीं चुद सकती थी, अगर चुदती तो पकड़ी जाती।

वो फिर बाथरूम जाने लगी तो कमल ने उसे वीडियो बनाने को कहा क्योंकि हममें अब उसके साथ बाथरूम जाने की हिम्मत नहीं थी।

साक्षी बाथरूम गई और उसने वीडियो कॉल किया।

कमल मेरे बगल में लेट गया और मुझे भी बाथरूम का नजारा दिखाने लगा।
साक्षी ने पेशाब किया, अपनी चूत में उंगली डाल कर चूत को साफ किया।
फिर उसने सारे कपड़े खोले और शॉवर के नीचे नहाने लगी; पूरे बदन पर साबुन मलने लगी।
फिर नहा ली।

कमल ने साक्षी को कॉल करके नर्स वाली ड्रेस पहन के आने को बोला तो साक्षी ने अगली बार का बोल दिया, और सलवार सूट पहन कर तैयार हो गई।
उसे देख कर लग नहीं रहा था कि अभी इसने 2 लौड़ों से चुदाई करवाई है।

फिर साक्षी ने हमे चाय ला कर दी और वो मेरे बगल में बैठ कर चाय पीते हुए बात करने लगी।

उसने लेस्बियन सेक्स करने की अपनी इच्छा को बताया कि उसे लेस्बियन थ्रीसम करना है, जिसमें तीनों लड़कियां एक दूसरे के बदन को रात भर प्यार करें।

मैंने उसे रण्डी के साथ करने को बोला तो उसने मना कर दिया।

उसने मेरी पिछली Xxx पोर्न हिंदी कहानी को पढ़ रखा था तो उसने शैफाली और मालविका से मिलवाने को बोला।

कमल ने हामी भरते हुए कहा कि वो सौरभ का भी शौक पूरा कर सकता है।
कमल और साक्षी ने मुझे शैफाली, मालविका और सौरभ के साथ ग्रुप सेक्स का प्लान बनाने को बोला।
मैंने कोशिश करने के लिए कहा और वहां से लौट आया।

दोस्तो, इस कहानी को यहीं समाप्त करता हूं।

आगे आने वाली कहानियों में बताऊंगा कि कैसे फिर ग्रुप सेक्स का प्लान बना।
साक्षी, कमल और मेरी ख्वाहिश कैसे पूरी हुई, ये जानने के लिए आगे आने वाली कहानी का इंतजार करें।

Xxx पोर्न हिंदी कहानी पर आप अपना फीडबैक कहानी पर जरूर दें। कमेंट्स में आप अपनी राय रख सकते हैं या फिर नीचे दी गई ईमेल पर भी मैसेज कर सकते हैं।
[email protected]

About Antarvasna

Check Also

मेरी कामुकता, मेरे तन की प्यास-1

दोस्तो, मेरा नाम प्रीति शर्मा है, मैं दिल्ली में रहती हूँ। अभी मैं सिर्फ 27 …