चुदाई की अगन- 2

कपल हॉट चीटिंग सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक प्यासी लड़की ने पति से दगा करके गैर मर्द से सेक्स किया तो उसे पूरा मजा आया. उधर उसका पति भी दूसरी लड़की को चोद रहा था.

दोस्तो, आप मेरी सेक्स कहानी में प्रिया और सुमित की चुदाई का रस ले रहे थे.
कहानी के पहले भाग
पति की चुदाई से असंतुष्ट पत्नी की कहानी
में अब तक आपने पढ़ा था कि प्रिया अपने पति अनिल की गैरमौजूदगी में अपने किराएदार सुमित के साथ चुद रही थी. सुमित का कड़ियल लंड उसे डॉगी स्टाइल में असीम आनन्द दे रहा था.

अब आगे कपल हॉट चीटिंग सेक्स कहानी:

कुछ मिनट की डॉगी स्टाइल की चुदाई के बाद प्रिया ने सुमित को नीचे लिटाया और बोली- अब मुझे मजे लेने दो.
यह कहकर वो सुमित के ऊपर चढ़ गयी.

सुमित का लंड प्रिया ने अपनी चूत में आहिस्ता से सैट करके पूरा अन्दर घुसा लिया और उछलने लगी.
अब वो बकवास भी पूरे जोश से कर रही थी जो वो अनिल के साथ कभी नहीं कर पाती थी.

वो कह रही थी- सुमित आज तुम्हारा लंड पूरा निचोड़ दूँगी … आज तो तुझे वो मजा दूँगी, जो तेरी बीवी ने कभी नहीं दिया होगा … आह आज फाड़ दे मेरी, मेरे राजा … और ज़ोर से पेल … लगा नीचे से दम …. ज़ोर से चोद मेरी जान.

अब सुमित भी इसी भाषा पर उतर आया था.
वो भी कह रहा था- आज तेरी फाड़ कर ही छोड़ूँगा … इतने मजे दूँगा कि तू अनिल की चुदाई भूल जाएगी … अब दिन रात तुझे चोदूँगा … ले और ले!

ज़ोर दोनों ओर से लग रहे थे.
प्रिया की चूत और मम्मे दोनों आज धन्य हो गए थे.

जल्द ही वो दोनों पसीने-पसीने हो गए.
सुमित का लंड था कि हार मानने को तैयार नहीं … और प्रिया की चूत की लपलपाहट कम ही नहीं हो रही थी.

फिर सुमित ने वापिस प्रिया को नीचे लिटाया और आखिरी पायदान पर आते हुए पूरे दमखम से चुदाई शुरू कर दी.

अब मामला पक चुका था.

नीचे पड़ी प्रिया की आवाज भी थरथराने लगी थी, सुमित भी बहक सा रहा था.

एक ही विस्फोट के साथ सुमित ने अपना पूरा माल प्रिया की चूत में भर दिया और दोनों निढाल होकर पड़ गए.

थोड़ी देर में सुमित ने साइड की दराज से सिगरेट का पैकेट निकाला और सिगरेट सुलगाई, जो तुरंत ही प्रिया ने झपट ली.
वो बोली- अपने लिए अलग जला लो.

सुमित ने दूसरी सिगरेट सुलगा ली.
दोनों नंगे पड़े धुआं उड़ाते रहे.

थोड़ी देर बाद सुमित उठ कर वाशरूम में चला गया और शॉवर के नीचे खड़ा हो गया.
पीछे पीछे प्रिया भी आ गयी और वो पीछे से उससे चिपट कर शॉवर के नीचे खड़ी हो गयी.

हॉट चीटिंग सेक्स से दोनों बहुत खुश थे.

रात के 1.30 बज गए थे.

सुमित ने नहाकर टॉवल लपेटा, तो प्रिया ने खींच दिया और बोली- रात को बिना कपड़ों के सोना चाहिए.
मतलब साफ था कि प्रिया रात को यहीं सोने वाली थी.

सुमित ने फ्रिज से बियर निकाली और दो गिलासों में भरके एक गिलास प्रिया को पकड़ा दिया.
दोनों बार बार एक दूसरे को चूम रहे थे.

सुमित सोफ़े पर बैठा, तो प्रिया उसकी गोदी में बैठ गयी.
प्रिया ने अपने गिलास से थोड़ी बियर अपने मम्मों पर डाली और सुमित का मुँह नीचे लगा दिया.
सुमित ने प्रिया को खड़ा कर दिया और प्रिया को बियर की बोतल देकर कहा कि बोतल लो और अपने मम्मों पर बियर लुढ़काओ.

उसने प्रिया की एक टांग उठाकर सोफ़े के हत्थे पर रख दी और नीचे बैठ कर प्रिया की चूत के पास मुँह लगा दिया ताकि बियर मम्मों से लुढ़कती, प्रिया की चूत को भिगोती उसके मुँह में गिरे.

ऐसे ही प्रिया ने सुमित के लंड पर बियर गिराकर उसके सुपारे को चूसा.

थोड़ी देर में ही दोनों दोबारा गर्म हो गए.
सुमित का लंड फिर से खड़ा हो गया.

अब उसने प्रिया को वहीं घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चूत में लंड घुसेड़ दिया.
थोड़ी धक्का मुक्की के बाद प्रिया बोली कि बेड पर चलो.

सुमित ने प्रिया को गोदी में उठा लिया.
प्रिया ने उसके होंठों से होंठ भिड़ा दिए और अपनी टांगें सुमित की कमर पर घेरे में लपेट दीं.

नीचे से सुमित का लंड प्रिया की चूत को टक्कर दे रहा था.
सुमित ने प्रिया को उचकाकर लंड उसकी चूत में फिर से घुसा दिया और नीचे से ऊपर धक्के देने लगा.

प्रिया हॉट चीटिंग सेक्स से खिल उठी.
ऐसी चुदाई उसने सिर्फ पॉर्न फिल्म में देखी थी.
आज उसकी चूत और सुमित के लंड ने जो खेल खेला था उतना समय तो अनिल पूरे महीने में नहीं लगाता था.

अब सुमित ने प्रिया को बेड पर कोने में लिटाया और नीचे खड़े होकर जोरदार धक्के लगाने शुरू कर दिए.

इस सेकंड राउंड में दोनों ही जल्दी ही ख़लास हो गए और ऐसे ही बिना कपड़ों के चिपट कर सो गए.

प्रिया ने सोने से पहले ही अपने जिम ट्रेनर को मैसेज कर दिया था कि कल वो न आए.

सुबह 9 बजे करीब प्रिया उठी तो देखा सुमित कपड़े पहन चुका था और कॉफी पी रहा था.

प्रिया उठी और उसके गले लग कर उसकी गोदी में ही बैठ गयी.

सुमित थोड़ा सीरियस था.
वो बोला- प्रिया, हमने गलती की है. अगर हमारे पार्टनर्स को पता चल गया तो क्या होगा?

प्रिया ने उसे एक गहरा चुम्बन दिया और कहा- हमने कोई गलती नहीं की, बस अपनी जरूरत को पूरा किया है. और रहा सवाल पार्टनर्स को पता लगने का, तो ये सब न तो मैं अनिल को बताने जा रही हूँ और न तुम शुभी को. और क्या पता हमारे पार्टनर्स भी ऐसा ही कुछ कर रहे हों. हम ऐसे ही अपनी जरूरतों को पूरा करते रहेंगे, बस जरा संभलकर.

सुमित कुछ आगे बोलता कि प्रिया बोली- देखो, मैं और अनिल दोनों ही बिना सेक्स के नहीं रह सकते. मेरा मानना है कि जल्दी ही अनिल भी वहां कोई सैटिंग कर लेगा. इस बारे में न तो मैं कभी उसे कुरेदूंगी और न वो मुझे!

अब सुमित भी सोचने को मजबूर हो गया कि हां उसकी बीवी शुभी भी बहुत सेक्सी और चंचल है. हॉस्टल लाइफ की बदमशियां तो उसने सुमित को सब बता रखी थीं.
सुमित को अहसास हुआ कि उसने जब भी शुभी को रात को फोन किया तो वो अक्सर अपने पड़ोस में रहने वाले डॉक्टर दंपति के घर ही मिली जो अक्सर अलग अलग समय की पालियों में हॉस्पिटल जाते थे.

उन दोनों ने अब अपने अपने दिमाग से बोझा हटा दिया और ये तय कर लिया कि जब तक उनके पार्टनर्स नहीं आते, तब तक दोनों घर के अन्दर ऐसे ही मस्ती करेंगे.

प्रिया ने दिन में अनिल को फोन करके कह दिया कि वो जिम ट्रेनर को हटा रही है क्योंकि वो रेगुलर जिम अब करती भी नहीं है और सुमित भी टालता है नीचे आने को, तो अकेले सेफ भी नहीं है.
जिम ट्रेनर की जगह वो किसी मेड को रखेगी तो उसे दिन में कंपनी मिल जाएगी.

अनिल को क्या ऐतराज होता.

प्रिया का शैतान दिमाग तेजी से चल रहा था.
वो जिस पार्लर में जाती थी, वहां एक हेल्पर थी रूबी.
रूबी सुंदर और गदराए शरीर की लड़की थी.
दुर्भाग्य से उसका, शादी के तुरंत बाद ही तलाक हो गया था … तो वो पैसे की मजबूरी में पार्लर में जॉब करती थी.

पार्लर वाले उससे हेल्परी का काम तो पूरा लेते, पर तनख्वाह बहुत कम देते थे.
रूबी कई बार प्रिया के बुलाने पर छुट्टी के दिन प्रिया की घर पर मसाज कर जाती थी.

पिछली बार प्रिया ने उससे बात की थी कि वो मेरे घर पर ही सुबह से शाम की नौकरी कर ले, काम कुछ खास नहीं था, बस साफ सफाई, रसोई और प्रिया के मखमली जिस्म की देखभाल; और इस सबके प्रिया उसे पार्लर से ज्यादा पैसे देने को तैयार थी.
अब बात जम गई थी तो प्रिया ने रूबी को रख लिया.

रूबी सुबह 9 बजे आती, घर के काम के साथ साथ दिन भर प्रिया के साथ गप्पें मारती, प्रिया की मालिश करती और रात का खाना बनाकर शाम को 7 बजे लगभग सुमित के आने के समय चली जाती.

उसके जाने के बाद प्रिया और सुमित अपनी रात रंगीन करते.

अब तो हफ़्ते में दो-तीन दिन बिना चुदे प्रिया सोती ही नहीं थी.
उनकी चुदाई घर के हर कोने; कभी ड्राइंगरूम में सोफ़े पर, कभी बेड रूम में कभी खुले आसमान के नीचे छत पर; मतलब जहां उनको मौका मिलता, वो शुरू हो जाते.

अब तो अक्सर वो लोग रात को साथ साथ नहाते और प्रिया के बेड पर ही सोते.

प्रिया को धीरे धीरे इस बात का अहसास हो गया था कि वहां अनिल ने अपने ऑफिस की स्टेनो, जो असम की ही है, से सैटिंग कर ली है. क्योंकि कई बार रात को फोन के दौरान उसे पीछे से किसी लड़की के खुसफुसाने की आवाज आतीं … और प्रिया जब भी वीडियो कॉल करती, अनिल कॉल काट देता, फिर पाँच दस मिनट बाद वापस कॉल करता.

जब अनिल गया गया था तो उसे हर समय फोन पर सेक्स सूझता था.
वो प्रिया से हर समय सेक्स की बातें करता, खूब देर तक दोनों फोन सेक्स करते, पर अब अनिल कॉल जल्दी काटना चाहने लगा था और उसकी सेक्स की बातों में प्रिया को अहसास हो जाता था कि वो उसको सिर्फ बेवकूफ बना रहा है.

पर यही सब तो प्रिया भी कर रही थी तो वो कुछ शिकायत नहीं करती.

एक दिन सुमित ने फोन पर प्रिया को बताया कि शुभी की कंपनी ने शुभी को एक हफ्ते का होलिडे पैकेज दिया है, पति-पत्नी के लिए सिंगापुर ट्रिप का … तो उसको एक हफ्ते के लिए जाना होगा.

प्रिया ने भी अनिल पर ज़ोर देकर तीन दिन का ट्रिप दार्जिलिंग का बना लिया.

सुमित के जाने से एक रात पहले दोनों ने भरपूर सेक्स किया.

प्रिया कहती रही कि जो सुमित ने दाँत से काटने के निशान बनाए हैं, उसका वो अनिल को क्या जवाब देगी!
तो सुमित ने हंस कर कहा- प्रिया निशान तो मेरी पीठ पर भी बहुत बने हैं, तुम्हारे लंबे नाखूनों से!

इन पंद्रह दिनों में एक नयी बात जो प्रिया ने सीखी थी, वो थी मुँह से लंड को ख़लास करना.
अब एक ट्रिप तो सुमित प्रिया की चूत मारकर लगाता, दूसरे का मौका प्रिया उसे नहीं देती और मुँह से ही सुमित को निचोड़ देती.

सुमित तो प्रिया के ओरल सेक्स का दीवाना हो गया था.
उस दिन प्रिया ने रूबी से कह दिया था कि वो सुबह 10 बजे करीब आए.

रात भर के घमासान सेक्स के बाद प्रिया तो नीचे आकर ताला लगा कर सो गयी.

सुमित सुबह बाहर से लॉक करके चला गया.
जाते समय उसने प्रिया को फोन किया तो उसका फोन स्विच ऑफ था.

प्रिया 10.30 बजे रूबी की डोर बेल से उठी.
वो नंगी ही सो गयी थी तो एक फ्रॉक डालकर उसने गेट खोला.

रूबी मुस्कुराती हुई अन्दर आई.

प्रिया ने उससे कॉफी बनवा कर पी, अब वो रूबी के सामने सिगरेट पीती थी.
रूबी ने उसके लिए फटाफट नाश्ता बनाया, तब तक प्रिया फ्रेश होकर आ गयी.

प्रिया की अगले दिन की फ्लाइट थी तो उसने रूबी से कहा कि आज वो उसकी फुल बॉडी टोनिंग कर दे.

पर प्रिया का मूड बढ़िया नहीं था क्योंकि उसने सुमित से कहकर एक नया सिम कार्ड मंगाया था और उसी सिम से कल रात को अनिल को फोन मिलाया था तो फोन किसी लड़की ने उठाया था.

प्रिया ने आवाज बदलते हुए इंगलिश में उससे पूछा- साहब कहां हैं … मैं उनकी पुरानी सेक्रेटरी बोल रही हूँ?
उस लड़की ने हंसते हुए कहा- तुम उनकी सेक्रेटरी रही हो, तो तुम्हें मालूम होना चाहिए कि वो रात को किस काम में बिज़ी होते हैं.

पीछे से अनिल कि आवाज आई- डार्लिंग, फोन काट दो, मूड मत खराब करो.
प्रिया को बहुत बुरा लगा इसलिए उसने सुमित से और जमकर सेक्स किया.

इस समय वो फिर चुदासी हो रही थी.
उसे अफसोस रहा कि इससे तो रात को वो सुमित के आगोश में ही सो जाती तो सुबह की चुदाई भी हो जाती.

रूबी ने महसूस कर लिया कि प्रिया कुछ अन्दर से उदास है तो उसने प्रिया को जबदस्ती नाश्ता कराया.
फिर कहा कि आज वो उसे स्पेशल मसाज देगी.

रूबी को मालूम था कि प्रिया को मस्ती पसंद है … और उसे कुछ भी बुरा नहीं लगेगा.
रूबी ने बेड पर से बेडशीट हटाई और एक पुरानी शीट बिछा दी. उसके ऊपर एक बहुत पतली डिस्पोजेबल शीट बिछा दी, जो अक्सर ऑइल मसाज में पार्लर में इस्तेमाल होती है.

रूबी के कहने पर प्रिया लेट गयी.
उसके कान में रूबी ने धीरे से कहा- मैं आज आपको नुरो मसाज देगी.

प्रिया मुस्कुरा दी.
उसे मालूम था कि नुरो मसाज में ऑइल से बॉडी टू बॉडी मसाज दी जाती है.

रूबी का जिस्म भी प्रिया से कम नहीं था, बस प्रिया के जिस्म और चमड़ी पर अमीरी का लेप था और रूबी की त्वचा नैसर्गिक खूबसूरत थी.

प्रिया तो सुबह से ही फ्रॉक पहनी हुई थी, जिसमें से उसका हर अंग बाहर झांक रहा था.

रूबी ने प्रिया को पेट के बल लिटाया और पैरों से मसाज शुरू की, धीरे धीरे वो प्रिया के नितंबों तक पहुंच गयी.
उसने फ्रॉक को ऊपर किया और उसके पुष्ट गोरे नितंबों को मसाज देने लगी.

प्रिया को मजा आना शुरू हो गया था, उसने अपनी टांगें खोल दीं, तो रूबी अपने हाथ में तेल लेकर उसकी दोनों टांगों के बीच हाथ नीचे ले जाकर मालिश करने लगी.
उसकी हथेलियों से प्रिया की चिकनी चूत की फांकें रगड़ने लगीं.

रूबी बहुत धीरे धीरे आगे बढ़ रही थी.
जब उसे यकीन हो गया कि प्रिया अब उसे रोकेगी नहीं तो उसने प्रिया की फ्रॉक गर्दन से होते हुए उतार दी और उसे निपट नंगी कर दिया.
प्रिया अब भी पेट के बल लेटी थी.

रूबी ने भी अब अपने पूरे कपड़े उतार दिए और वो भी पूरी नंगी हो गयी.
प्रिया की पीठ पर तेल डालकर रूबी ने उसकी गर्दन से नीचे कमर तक मालिश शुरू कर दी.

प्रिया की आंखें मुँदी हुई थीं.
उसे नहीं मालूम था कि रूबी भी नंगी हो चुकी है.

जब रूबी ने अपने मांसल मम्मों पर ढेर सारा तेल डाला और प्रिया के ऊपर लेट कर अपने मम्मों से उसकी पीठ को रगड़ने लगी.
तब प्रिया को अहसास हुआ कि एक मांसल जिस्म उसे रगड़ रहा है.

उसने मुस्कुरा कर गर्दन घुमाई और रूबी को चूम लिया.
रूबी पूरी नंगी होकर प्रिया के जिस्म पर तैर सी रही थी.

रूबी ने एक हाथ से प्रिया की चूत को भी रगड़ना शुरू कर दिया तो प्रिया बैचन हो गयी.
वो उठ कर बैठ गयी और उसने रूबी को अपने पास खींच लिया.

प्रिया ने उसके होंठों से होंठ मिला दिए.
वो दोनों एक-दूसरे को चूम रही थीं, शायद उसी शिद्दत से, जितनी शिद्दत से प्रिया सुमित को चूमती थी.

प्रिया को तो मस्ती छा गयी थी, उसने अपनी दो उंगलियां रूबी की चूत में कर दीं.
रूबी भी सिहर गयी.

कुछ भी हो, उनका रिश्ता तो मालिक नौकर का ही था.
रूबी ने प्रिया को आहिस्ता से नीचे लिटाया और अब उसके पेट और मम्मों को मसाज देने लगी.

प्रिया उससे अंतरंग होना चाह रही थी.
उसने रूबी को अपने ऊपर खींच लिया और दोनों बेल की तरह लिपट गईं.

प्रिया अपनी चूत में हलचल चाह रही थी.
उसने रूबी से कहा- अपनी जीभ से मेरी चुत को चोदो.

रूबी नीचे झुकी और अपना सिर प्रिया की टांगों के बीच में कर दिया.
प्रिया के लिए ये एक नया अनुभव था.

रूबी ने प्रिया को बाद में बताया कि उनके पार्लर में कई रईसजादियां उससे ये काम करवाती थीं और पार्लर मालकिन इसके ऐवज में उनसे अच्छी ख़ासी रकम ऐंठती थी. पर उसको टुकड़े ही मिलते थे, तो उसने मना कर दिया था.
इसमें इन्फ़ैकशन होने का भी डर था, हर एक लड़की सफाई नहीं रखती थी.

प्रिया के बहुत ज़ोर देने पर रूबी ने अपनी उंगलियों से ही प्रिया की चूत की गर्मी मिटा दी.
फिर रूबी ने बाथटब में गुलाबजल का पानी बनाकर प्रिया को उससे नहलाया.

प्रिया बहुत खुश और संतुष्ट थी.
नहाकर, कॉफी पीकर प्रिया ऐसी सोयी कि सीधी शाम को ही उठी.

अगले दिन उसकी सुबह की फ्लाइट थी.
पहुंचने पर अनिल के उसका स्वागत गर्मजोशी से चूमकर किया.

प्रिया के अन्दर तो गुस्सा था, फिर उसने सोचा कि जो अनिल यहां कर रहा है, वो भी तो वहां यही कर रही है, तो हिसाब बराबर.
अब तो दो दिन खूब ऐश की जाए.

वो अनिल को नाराज भी तो नहीं करना चाहती थी क्योंकि वो ही तो उसका एटीएम कार्ड था.
प्रिया अनिल के पास सिलीगुड़ी पहुंची, वहां से दोनों दार्जिलिंग चले गए.

दार्जीलिंग के होटल में पहुंचकर, कमरे में आते ही दोनों ने कपड़े उतार फेंके और गुंथ गए धकापेल में.
दोनों ने ही महसूस किया कि अपने पार्टनर के साथ चुदाई का एक अलग मज़ा है.

अनिल तो उसके मम्मे ऐसे चूस रहा था मानो उसने पिछले एक महीने से किसी के मम्मे छुए ही नहीं हों … और यही हाल प्रिया ने भी दिखाया.
वो अनिल का लंड छोड़ने को तैयार नहीं थी.

प्रिया ने हंस कर कहा- मैं इसे काट कर अपने साथ ले जाऊंगी.
प्रिया ने अनिल की पीठ पर लाल लाल धारियां देखीं, जिन्हें वो पहचान गयी कि ऐसी ही धारियां उसके नाखूनों से सुमित की पीठ पर भी बनी हैं.

अनिल ने उसकी गर्दन पर बने निशान के लिए पूछा, तो प्रिया ने कह दिया कि किसी मच्छर ने काट लिया था. अब तो काफी कम हो गए हैं. मच्छर के काटने से खुजली होती थी, जिससे निशान बन गए हैं.
दार्जीलिंग में घूमने में उन दोनों ने इतना समय नहीं दिया, जितना समय चुदाई में दिया.

कुछ तो प्रिया में चुदाई का माद्दा भी ज्यादा था, कुछ वो अनिल को यह अहसास कराना चाहती थी कि वो पिछले एक महीने से सेक्स की भूखी है.

ऐसे ही अनिल भले ही थक जाता था पर वो पूरे जी जान से प्रिया की चुदाई करता और कहता कि उसे पिछले एक महीने … और अगले एक महीने का चुदाई का कोटा पूरा करना है.

प्रिया को लगता था कि अनिल की आसामी फ्रेंड ने उसे गांड चुदाई का चस्का डाल दिया था क्योंकि इन दो दिनों में अनिल ने कई बार कोशिश की कि प्रिया गांड मरवा ले, पर प्रिया ने मना कर दिया.

तीन दिन बाद प्रिया वापिस आ गयी.

आने के तीन दिन बाद सुमित भी वापिस आ गया.

जिस दिन सुमित को आना था, उस शाम प्रिया ने रूबी से दिन में फिर मस्ती की और दोपहर बाद रूबी को हाफ-डे दिया और सो गयी.

उसे मालूम था कि आज की रात सुमित और वो पूरे हफ्ते की कसर निकालेंगे.

तो दोस्तो, ये कपल हॉट चीटिंग सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेल लिखिएगा. आगे पुन: मुलाक़ात होगी.
[email protected]

About Antarvasna

Check Also

ननद को अपने पति से चुदवाया-1

हाय दोस्तो, मेरी यह स्टोरी भाई बहन सेक्स की है यानि भाई बहन की चुदाई …