क्लासमेट को प्रोपोज करके चोदा

दोस्तो, मेरा नाम आशीष जैन है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. मैं 5 फुट 10 इंच लंबा और थोड़ा पतला हूँ. मेरे लंड का साइज 6 इंच है. यह कहानी मेरी और मेरी गर्लफ्रेंड अर्चना की है. वो हमारी ही कालोनी की रहने वाली थी. मैं और अर्चना एक ही क्लास में पढ़ते थे. मैं पढ़ाई में बहुत होशियार था.

अर्चना बहुत ही सेक्सी लड़की थी. उसका फिगर 32-28-32 का था. पूरी क्लास उसकी चुदाई के सपने देखता था. वो भी सबको अपनी जवानी इठला इठला कर दिखाती थी. उसे मैं जब भी देखता था, मेरा लंड पैंट में तंबू बना देता था. मैं इस मौके की तलाश में था कि कैसे इससे सैटिंग बैठा लूं. बस इसी चक्कर में लगा रहता था.

इस तरह समय बीतता गया और जल्द ही एग्जाम टाइम आ गया. एक दिन मैं क्लास में पढ़ाई कर रहा था. अचानक वो मेरे पास आई और मुझसे बोली कि आशु क्या तुम मेरी स्टडी में मेरी मदद कर सकते हो?
मैं मन ही मन खुश हुआ, जिसे मैं हर रात अपने सपनों में चोदता था, आज वो ही मेरे पास आई है. मैंने तुरंत हां कर दी, क्लास के बाद हम दोनों रोज कैंटीन में पढ़ने लगे.

दूसरे दिन जब वो मेरे कैंटीन में मेरे सामने आई तो मैं उसके तने हुए मम्मों को देखने लगा. उसने मुझे घूरते हुए देखा और एक स्माइल के साथ वो मेरे साथ बैठ गयी. मैंने उसको पढ़ने में मदद करनी शुरू कर दी. वो मुझसे सट कर बैठी थी, जिससे मेरे मूड बनने लगा. वो मेरी तरफ झुक कर पढ़ रही थी जिससे मुझे उसके टॉप से झांकती हुई चूचियों को देखने का मजा मिल रहा था.

शायद वो भी इस बात को समझ रही थी.. और अपनी आदत के अनुसार वो मुझे भी अपनी जवानी की झलक दिखाते हुए गर्म कर रही थी.

कुछ दिन तक मैं उसको पढ़ाता रहा और वो मुझे गरमाती रही. उसके जाने के बाद मैं टॉयलेट में जाकर मुठ मारता था, तब जाकर मुझे तसल्ली होती थी. एक दो बार तो ऐसा हुआ कि मुझे उसके सामने ही टॉयलेट में मुठ मारने जाना पड़ा. जब मैं टॉयलेट से लंड को शांत करके बाहर आता तो वो मुझे मेरे मुरझाए हुए लंड को देखती और शायद ये अहसास करके अपने मन में खुश होती कि उसने अपनी मादक जवानी से मेरे लंड का पानी निकाल दिया है.

इस तरह से हम दोनों के बीच एक मूक सी बात हुए जा रही थी. वो भी मेरी भावनाओं को समझ रही थी. लेकिन मैं उससे अपने दिल की बात न कह सका क्योंकि मुझे अजीब सा डर लगता था.

कुछ दिन बाद एग्जाम हो गए और परीक्षा में पास होने के बाद उसकी कॉल मेरे पास आई, तो मैंने उससे पार्टी मांगी.
उसने मुझे अपने घर बुला लिया, मैं जल्दी से तैयार होकर उसके घर के लिए निकल गया और 30 मिनट उसके घर पहुँच कर डोरबेल बजा दी. उसने तुरंत दरवाजा खोल दिया. उसे देखते ही मेरा मुँह खुला का खुला रह गया. उसने ब्लैक शर्ट और मिनी स्कर्ट पहन रखी थी. उसमें वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी.

उसने मुझे टोका और बोली- हैलो.. क्या देख रहे हो?
मैं बोला- कुछ नहीं, आज तुम कुछ ज्यादा ही खूबसूरत लग रही हो.
वो बोली- थैंक्स!

उसने अन्दर आने को कहा, मैं अन्दर जाकर सोफे पर बैठ गया. वो पानी लेकर आई और जैसे ही वो पानी देने के लिए झुकी, मुझे उसके चूचों की लकीर दिख गयी. मेरा लंड खड़ा हो गया, जो उसने भी देख लिया. पानी देने के बाद वो मेरे बगल में सोफे पर बैठ गयी.

हम दोनों आपस में बात करने लगे. उसके घर में आज कोई नहीं था. उससे बातों बातों में मैंने उससे प्रपोज़ कर दिया.
उसने जवाब दिया- यार मैं तो कब से इसी बात का वेट कर रही थी.

मैं उसके गले लग गया और उससे चूमने लगा. मैं उसके होंठों को चूसने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी. चूसते चूसते मैं उसके चुचे दबाने लगा और उसे मसलने लगा. वो मादक सीत्कारें लेने लगी. मैं धीरे धीरे आगे बढ़ रहा था, तो उसने मुझे रोका और बोली- यहां नहीं … कमरे में चलते हैं.

मैं उसे अपनी गोद में उठाकर उसके रूम में ले गया. कमरे में जाते ही मैं उसको बेताबी से चूमने लगा. वो भी पागलों की तरह मुझे चूमने लगी. मैं उसके चुचे उसके टॉप के ऊपर से ही मसलने लगा. मैंने उसका टॉप उतार दिया, वो लाल रंग की ब्रा में थी. उसके चुचे गजब लग रहे थे. उसने भी मेरी टी-शर्ट को उतार दिया. मैं उसके चूचों को ब्रा के ऊपर से ही बुरी तरह चूसने लगा. उसने तुरंत अपनी ब्रा उतार दिया और मैंने उसके चूचों को जोर से मसल दिया. वो कराह उठी, मैं अच्छी तरह से उसके मम्मों को चूसने लगा और दबाने लगा.

इसी के साथ मैंने उसकी स्कर्ट का बटन भी खोल दिया, जिससे स्कर्ट नीचे गिर गयी. वो मेरे सामने सिर्फ एक जरा सी पेंटी में थी. मैं उसकी चूत को पेंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा. वो मदहोश होती जा रही थी. मैंने उसकी पैंटी भी उतार दी और उससे चूमते चूमते लिटा कर उसकी चूत को भी चाटने लगा.

उसकी चुदास भड़कने लगी और उसने अपनी टांगें फैला कर चूत पसार दी. मैं उसकी चूत के दाने को जीभ से चाटने लगा. वो कामुक सीत्कारियां लेने लगी.

अगले ही पल उसने उठ कर मेरी जीन्स भी उतार दी और अंडरवियर में तना हुआ मेरा लौड़ा देखने लगी. वो भयातुर से स्वर में बोली- इतना बड़ा मैं कैसे लूँगी?
मैंने अंडरवियर उतारते हुए लंड खोल दिया और कहा- जान शुरू में दर्द होगा, पर बाद में मजा ही मजा है.
वो मेरे लौड़े को बड़ी गौर से देख रही थी. मैंने कहा- जान पहले इसे चूसो.

वो मेरे लंड को चूसने लगी और चुदास अपना रंग दिखाने लगी. जल्द ही हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए. अब वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत को चाट रहा था.

दो मिनट बाद हम सीधे हो गए और मैं उसकी चूत पर लंड रगड़ने लगा. वो टांगें फैलाए हुए तड़प उठी और बोली- जानू पेल दो अन्दर.. अब बस बर्दाश्त नहीं होता.
मैंने एक झटके में लंड उसकी चूत में दे मारा, वो दर्द से चिल्लाने लगी.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठ से जोड़ दिया और चूसने लगा. मैं दो मिनट रुक कर उसके चुचे दबाने लगा और चूसने लगा. वो सामान्य हुई तो गांड उठा कर सिग्नल देने लगी. फिर मैंने झटके देना चालू कर दिए. मैं उसके चुचे दबाते दबाते उसको चोद रहा था.

कोई पांच मिनट बाद मैंने उससे ऊपर आने को कहा, अब वो ऊपर थी और मैं नीचे था. मैं उसके होंठ चूसते चूसते उसको चोद रहा था. वो सीत्कारियां ले रही थी. फिर मैंने उससे पोजीशन बदलने को कहा. अब हम डॉगी स्टाइल में सेक्स कर रहे थे. मैंने उससे झुका कर उसकी चूत में लंड पेलकर उसे मस्ती से चोद रहा था. फिर मैंने उससे पलंग पर उल्टा लिटा कर उसके हाथ मोड़ कर उससे चोदने लगा, इस आसन में वो एकदम से मजे में आ गई और सीत्कार भर कर बोल रही थी- आह.. चोदो मुझे फाड़ दो मेरी इस चूत को.. बुझा दो मेरी प्यास.. बना दो इसको भोसड़ा..

फिर मैंने उसे सीधा किया और उसकी टांगों को अपनी कमर पर रख कर उसकी चुचे पकड़ कर, फिर से उसकी चूत में लंड दे दिया और उससे बेरहमी से चोदने लगा.
वो भी मजे लेते हुए बोलने लगी- आह.. चोदो मेरे राजा.. बना दो इसे आज भोसड़ा.. आह बहुत मजा आ रहा है.

दस मिनट की चुदाई के बाद उसका शरीर अकड़ने लगा. वो छूटने वाली थी. बस 5-6 झटकों में उसका पानी निकल गया, पर मेरा अभी नहीं निकला था. मैं उससे चोदे जा रहा था, अब तक वो 2 बार खाली हो चुकी थी. कुछ देर बाद मेरा भी पानी निकलने वाला था और मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.

मैं उसके बगल में लेट गया और सो गया. थोड़ी देर बाद मुझे मेरे लंड पर कुछ महसूस हुआ, मैंने देखा कि वो मेरा लंड चूस रही थी. मेरा लंड फिर से उसकी चुत फाड़ने को तैयार था और दुबारा चुदाई का वो दौर चला.

उस दिन मैंने उससे 3 बार चोद दिया. आज भी हम कभी कभी सेक्स का वही खेल खेलते हैं.

यह थी मेरी पहली चुदाई की कहानी. आपको मेरी कहानी पसन्द आयी होगी. कोई गलती हो तो मुझे माफ़ करना. मुझे मेल जरूर करें.
[email protected]

About Antarvasna

Check Also

बड़ी मुश्किल से पटी वो सेक्सी स्कूल गर्ल

मेरा नाम राहुल है। इस वक्त मेरी उम्र 20 साल की है। आज मैं आपको …