एक दूसरे की बीवी चोद कर मनाया नया साल

वाइफ चेंज Xxx कहानी में मेरी बीवी ने सेक्स में कुछ नया करने के लिए दोस्तों से अदला बदली करके सेक्स का मजा लेने का सुझाव दिया. उसने मेरे दोस्त कि बीवी से बात भी कर ली.

मेरा नाम निखिल है दोस्तो.
मैं 28 साल का एक हट्टा कट्टा नौजवान हूँ और एक प्राइवेट कंपनी में काम करता हूँ।
मेरा चेहरा मेरा गोल है, बाल घुंघराले हैं और माथा चौड़ा है।

मैं हंसमुख स्वभाव का हूँ, बिंदास हूँ और बोल्ड हूँ।
कसरत करना और अपनी बॉडी बनाना मेरा शौक है इसलिए मैं हर रोज़ जिम जाता हूँ।

मेरी शादी अभी दो साल पहले एक नेहा नाम की लड़की से हो गयी है।
नेहा भी बहुत खूबसूरत, सेक्सी और बोल्ड है, गोरी है, छरहरे बदन की है और 5′ 4″ कद वाली है।
उसके मम्मे बड़े बड़े भी हैं और सुडौल भी।

बातें करने में वह बड़ी स्मार्ट है, खुल कर बोलती है और हँसी मजाक करने में भी बड़ी तेज है।
हाज़िर जवाबी उसका बहुत बड़ा गुण है।

अच्छी बात यह है कि हम दोनों को सेक्स बहुत ज्यादा ही पसंद है।
उसे चुदाने का बड़ा शौक है तो मुझे चोदने का! उसे लण्ड पकड़ने का बड़ा शौक है तो मुझे लण्ड पकड़ाने का।
मुझे चूचियाँ मसलने का बड़ा शौक है तो उसे चूचियाँ मसलवाने का!

कुल मिलाकर हम दोनों की सेक्स लाइफ बहुत अच्छी चल रही है।

दिन भर मैं ऑफिस में काम करता हूँ और मेरी बीवी घर में काम करती है.
लेकिन रात में हम दोनों नंगे नंगे सेक्स का खूब मज़ा लेते हैं।
मैं उसके नंगे बदन का मज़ा लेता हूँ और वह मेरे नंगे बदन का मज़ा लेती है।

इस तरह हम दोनों की लाइफ मस्त से गुज़र रही है।

एक दिन रात में वह बड़ी मस्ती से मेरे लण्ड से खेल रही थी; लण्ड पर बार बार बड़े प्यार से थप्पड़ मार रही थी; थप्पड़ मार मार कर लण्ड को चूम रही थी, उसे पुचकार रही थी।

मैंने पूछा- यह क्या कर रही हो मेरे लण्ड के साथ?
उसने एक थप्पड़ और जड़ दिया मेरे लण्ड पर फिर बोली- ये तेरा लण्ड नहीं है। ये तेरे दोस्त का लण्ड है यार … मुझे तेरे दोस्त के लण्ड से प्यार हो गया है। मैं तेरे दोस्त के लण्ड को चाहने लगी हूँ।

मैंने पूछा- यह मेरे कौन से दोस्त का लण्ड है?
वह तपाक से बोली- ये तेरे दोस्त आशीष का लण्ड है, रोहन का लण्ड है, प्रकाश का लण्ड है।

यहीं से वाइफ चेंज Xxx कहानी की शुरुआत हो गयी.

मैंने कहा- तेरे हाथ में सिर्फ मेरा लण्ड है। पागल हो गई हो क्या तुम? ये सब मेरे अच्छे दोस्त हैं।
वह बोली- हां मैं पागल हो गई हूँ. मैं तेरे दोस्तों के लण्ड पाकर ख़ुशी से पागल हो गई हूँ।

यह सब सुनकर मेरे भी लण्ड में जबरदस्त तनाव आ गया।
वह और ज्यादा तन कर झूमने लगा।
नेहा मेरे लण्ड पर थूक थूक कर चाटने लगी।

कोई औरत लण्ड की इतनी दीवानी हो सकती है, यह मुझे उस दिन साफ़ साफ़ नज़र आ रहा था।

लेकिन एक बात है उसका मेरे दोस्तों का नाम लेने से मैं बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गया था.
तो मैंने फिर लण्ड उसकी चूत में पेल दिया और बड़ी मस्ती से चोदने लगा।

वह बोली- हाय मेरे राजा, आज तो मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है। आज तुम्हारे लण्ड में बड़ी ताकत आ गईं है. आज तुम्हारा लण्ड बड़ा खूंखार हो गया है. लगता है आज मेरी चूत फट जाएगी। आज मुझे खूब जम कर चोदो।

फिर उसके मुंह से निकला- हाय दईया, तुम क्या बोल रहे हो यार निखिल? किसकी बीवी चोद रहे हो तुम?
मैंने कहा- मैं आशीष की बीवी चोद रहा हूँ।

मैंने फिर 4 / 6 धक्के मारे और कहा- अब मैं रोहन की बीवी चोद रहा हूँ।
फिर उसी स्पीड में 4 / 5 और धक्के मारे, फिर कहा- अब तो यह लण्ड प्रकाश की बीवी की बुर में पेल दिया है मैंने! मुझे प्रकाश की बीवी चोदने में ज्यादा मज़ा आ रहा है।

वह बोली- तुम अपने मन से अपने दोस्तों की बीवियां चोदते जाओ लेकिन मज़ा तो मेरी ही बुर को मिल रहा है। एन्जॉय तो मैं ही कर रही हूँ।

यह सच है कि अगर मन में पराई बीवियों का नाम लो तो अपनी बीवी चोदने में ज्यादा मज़ा आता है।
इसी तरह बीवी अगर सोचे कि वह किसी पराये मरद से चुदवा रही है तो उसे भी अपने पति से चुदवाने में ज्यादा मज़ा आता है।

हम दोनों की चुदाई में रूचि दिन पर दिन बढ़ने लगी।
ऐसा करते करते दिसंबर का महीना आ गया।

25 दिसंबर की रात को जब वह मेरा लण्ड बड़े प्यार से चूम चाट रही थी तो मैंने पूछा- नेहा इस बार नया साल किस तरह मनाओगी?
वह बोली- जैसे पिछली बार मनाया था, वैसे ही मना लेंगे।

मैंने कहा- नहीं यार इस बार कुछ नया होना चाहिए. कुछ नया सोचो न प्लीज?
वह बोली- जो तुम चाहो कर लो, मैं तो तुम्हारे साथ हूँ।

मैंने कहा- वो तो ठीक है … पर बताओ न कुछ नायाब आईडिया?
वह बोली- तो फिर तुम लोग एक दूसरे की बीवी चोद कर मनाओ नया साल। एक ही कमरे में एक दूसरे के सामने एक दूसरे की बीवी चोदो। लण्ड दूसरे की बीवी की चूत में 2021 में पेलो और 2022 में निकालो। फिर किसी और की बीवी की बुर में पेल दो। इस तरह एक दूसरे की बीवियां लण्ड पेल पेल कर रात भर चोदो। मैं तो तुम्हारे दोस्तों से चुदवाने के लिए तैयार हूँ।

मैंने कहा- मैं भी अपने दोस्तों की बीवियां चोदने के लिए तैयार हूँ।

वह बोली- फिर देर किस बात की … कल से काम पर जुट जाओ। अपने दोस्तों से बात करो, उन्हें राज़ी करो।

आशीष, रोहन, प्रकाश तीनों मेरे दोस्त हैं।

हमारा फैमिली सहित तीनोंके घर में आना जाना है।
तीनों फैमिली एक दूसरे को अच्छी तरह जानतीं हैं; कोई अपरिचित नहीं हैं और तीनों से खुल कर बात करने में भी कोई संकोच नहीं है।

इसलिए शाम को मैं और आशीष एक होटल में ड्रिंक्स पर बैठ गए और खुल कर बात करने लगे।
बातों का सिलसिला नया साल मनाने पर टिक गया।

थोड़ा इधर उधर की बातें की, बाद में मैंने उसके सामने अपना नये साल के मौके पर बीवियों की अदला बदली का सुझाव रखा.
तो वह उछल पड़ा।
वह बोला- यार, यही तो मैं भी कहने वाला था। मेरी बीवी रोज़ मुझसे पूछती है कि आज तुमने निखिल से बात की या नहीं? वह तो वाइफ स्वैपिंग में मुझसे ज्यादा इंटरेस्टेड है। उसी ने मुझसे कहा था कि तुम निखिल से बात करो वह मुझे पसंद है, मान जाएगा। ये तो बहुत बढ़िया रहेगा मैं भी तैयार हूँ और मेरी बीवी भी तैयार है।

मैं ख़ुशी ख़ुशी घर लौट आया।

घर में आकर मैंने अपनी बीवी नेहा को पूरी बात बताई तो खुश हो गई।
उसने कहा- अब मैं तुमको बता रही हूँ कि मैंने क्या किया.

जब तुम ऑफिस में थे तो मैं पहले आशीष के घर गई और उसकी बीवी आरती से मिली।
औरतें आपस में खुल कर खूब गन्दी गन्दी बातें कर लेतीं हैं; मरद उतना नहीं कर पाते।
मैंने तो कह दिया- यार आरती, मैं तेरे पति से चुदवाना चाहती हूँ. बदले में तुम मेरे पति से चुदवा लो।
वह बोली- अच्छा तो तुम हसबैंड स्वैपिंग करवाना चाहती हो।
मैंने कहा- हां, नया साल हसबैंड / वाइफ स्वैपिंग के साथ मनाना चाहती हूँ।
वह बोली- हां ठीक है, मैं तैयार हूँ।
मैंने पूछ लिया- तेरा पति मान जाएगा?
वह बोली- क्यों नहीं मानेगा भोसड़ी वाला? मैं बोलूंगी तो उसे मानना ही पड़ेगा।
फिर मैं रोहन की बीवी के घर चली गई, उससे भी खुल कर बात हुई।
वह तो साफ़ साफ बोली- एक बात बताऊँ नेहा? किस भोसड़ी वाली को पराये मरद का लण्ड अच्छा नहीं लगता? सबकी सब बीवियां पराये मरद के लण्ड के लिए उतावली रहतीं हैं. और मैं भी! एक सच्चाई और सुन ले नेहा, कोई माने चाहे न माने … पर यह सच है कि बीवियां बुरचोदी सब अंदर से रंडियां होतीं हैं। कई मर्दों से चुदवाने की चाहत सबमें होती है, मुझे में भी है।

उसकी बातें सुनकर मैं तो ख़ुशी से पागल हो गया।

मैंने मन में कहा कि अभी तक मैंने वाइफ स्वैपिंग के बारे में पढ़ा और सुना बहुत है पर अब तो हम सब वही करने जा रहे हैं। कितना मज़ा आएगा!

अगले दिन यानि शनिवार को मैंने दोनों कपल आकाश आरती और रोहन रूचि को ड्रिंक्स एंड डिनर पर आमंत्रित कर लिया।

अगली शाम को सही टाइम पर सब लोग आ गए।
हमने उनका स्वागत किया और बड़े आदर सत्कार से बैठाया।

आकाश की बीवी आरती साड़ी और ब्रा में थी।
ब्रा उसकी इतनी तंग थी कि उसके अंदर से उसके बड़े बड़े मम्मे बाहर निकलने के लिए बेताब हो रहे थे।
मेरी नज़र बस वहीं टिक गयी।

उधर रोहन की बीवी रूचि लो वेस्ट जींस और डीप नेक का स्लीवलेस टॉप पहन कर आयी थी।

टॉप तो बहनचोद एक छोटी सी ब्रा जैसी ही थी।
उसकी भी बड़ी बड़ी मस्तानी चूचियाँ मुझे विचलित कर रहीं थीं।

इधर मेरी बीवी नेहा ने एक घाघरा पहना था और ऊपर वह बिल्कुल नंगी थी।
वह अपने लम्बे लम्बे बालों को आगे करके अपने मम्मे छिपाये हुए थी.
लेकिन इधर उधर घूमने फिरने में उसके बड़े बड़े मम्मे सबको दिख जाते थे; निप्पल भी दिख जाते थे।
आकाश और रोहन दोनों मेरी बीवी की चूचियाँ देखने के लिए आँखें गड़ाए हुए बैठे थे।

इतने में मेरी बीवी ने सबको ड्रिंक्स का गिलास पकड़ा दिया।
सबने एक स्वर में चियर्स कहा और दारू पीने लगे।

सबको दूसरे की बीवियों के साथ दारू पीना बड़ा अच्छा लग रहा था।
मैं सोचने लगा कि जब ये दोनों मेरा लण्ड अपने होंठों से लगायेंगी तो मुझे कितना मज़ा आएगा?

रूचि ने पूछा- बीवियों की अदला बदली करके नया साल मनाने का आईडिया कहा से आया निखिल?
मैंने कहा- यह आईडिया मेरा नहीं, मेरी बीवी नेहा का है।

आरती बोली- बड़ी रोमांटक है तेरी बीवी बहनचोद … क्या मस्त आईडिया है. मैंने कई बार अपने पति से कहा कि तुम निखिल से इस विषय पर बात करो। पर चलो आज मेरे मन का होने जा रहा है।

रूचि ने कहा- अब दुनिया बदल चुकी है। अब तो लोग अपनी सुहागरात भी बीवियां अदल बदल कर मनाते हैं। मेरी एक पक्की सहेली है नीरजा। वह सुहागरात मनाने गोवा गयी थी. वहां से अपने पति के अलावा तो और मर्दों से चुद कर आई थी.

मेरी बीवी ने कहा- दूसरे का पति सबको अच्छा लगता है और दूसरे की बीवी सबको अच्छी लगती है। तभी तो मेरे मन में आईडिया आया।

इन बातों से माहौल गर्म और रोमांटिक हो गया।

मैंने आरती भाभी की पीठ पर हाथ रख दिया तो उसने मेरी जांघ पर हाथ रख दिया।
उसे मैंने अपनी तरफ खींचा तो उसने अपनी बाहें मेरे गले में डाल दीं, मेरी चुम्मी ले ली।
मैंने भी उसके होंठ चूमे।

तब मैंने देखा कि आकाश रोहन की बीवी रूचि को अपनी तरफ खींच कर उससे प्यार करने लगा है।

रोहन ने मेरी बीवी नेहा को अपनी बाहों में भर लिया और उसने गाल चूमने लगा, उसकी चूचियाँ दबाने लगा.
उसके मम्मे तो एकदम खुले हुए थे।

इस तरह हम तीनों ने अपने अपने पार्टनर चुन लिया।

इतने में मेरी बीवी बोली- यार रूचि और आरती, तुम चाहो तो अलग अलग कमरे में अपने अपने पार्टनर के साथ चली जाओ।
रूचि ने कहा- क्यों चली जाऊं? मैं देखूंगी कि तू मेरे पति का लण्ड कैसे चूसती है.
आरती बोली- मैं भी देखूंगी कि रूचि मेरे पति का लण्ड कैसे चूसती है. इसलिए कोई यहाँ से कहीं नहीं जाएगी। यहीं आमने सामने ही होगी पतियों की अदला बदली और बीवियों की अदला बदली। हम सब एक दूसरे चुदाई देख देख कर मज़ा लेंगी। जब हमें कोई शर्म नहीं, कोई झिझक नहीं, तो फिर अलग अलग क्यों? एक साथ क्यों नहीं? हम कोई 20 / 21 के साल कपल नहीं है। मेच्योर कपल हैं. अब हमें शर्माना नहीं आता.

इस तरह की गरमागरम बातें भी हो रहीं थीं और साथ ही साथ सबके कपड़े भी एक एक करके उतर रहे थे।

मेरी बीवी नेहा ने फटाक से अपने बालों को पीछे धकेला और हाथ उठाकर उनका जूड़ा बना लिया.
उसका ऐसा करने से उसके बड़े बड़े मम्मे सबको दिख गए।
सबने खूब मज़ा लिया.

फिर आरती ने अपनी साड़ी उतार कर रख दी और हाथ पीछे करके अपनी ब्रा का हुक खोल दिया।
हुक खुलते ही उसकी बड़े बड़े दूध छलक पड़े।

मेरा तो लण्ड साला उछल पड़ा और रोहन का लौड़ा भी कुलबुलाने लगा।

इसी तरह जब रूचि भाभी ने अपना टॉप उतारा तो उसकी मादक चूचियाँ देख कर सारे मर्द मस्त हो गए।
रूचि सच में बड़ी हॉट लग रही थी।
मेरा मन हुआ कि अगर उसकी जींस भी थोड़ा खुल जाए तो सबको उसकी झांटें दिख जाएँगी।
लेकिन वह जींस पहने बैठी रही।

मैं आरती भाभी की चूचियाँ सहलाने लगा.
आशीष ने रूचि भाभी की चूचियों की चुम्मी ले ली और निप्पल मसलने लगा।

रोहन मेरी बीवी नेहा के बूब्स हौले हौले दबाकर मस्ती करने लगा।
हम तीनों को एक दूसरे की बीवी के मम्मे बड़े प्यारे लग रहे थे।

मैं तो जोश में आकर आरती भाभी के स्तन चाटने लगा, निप्पल मुंह में भर कर चभुलाने लगा।
आरती मेरा लण्ड ऊपर से ही दबाने लगी।

रूचि आशीष का लण्ड ऊपर से ही टटोलने लगी और मेरी बीवी ने रोहन की पैंट की जिप खोल कर अपना हाथ अंदर घुसेड़ दिया।
वह जल्दी से रोहन का लण्ड निकाल कर देखना चाहती थी।

मजे की बात यह थी कि सब कुछ आमने सामने ही एक ही जगह हो रहा था।
न किसी को कोई शर्म थी और न कोई डर!

बीवियां इस खेल में उन्मुक्त होकर भाग ले रहीं थीं।
तीनों बीवियां खुद एक दूसरे के पति का लण्ड पकड़ने के लिए व्याकुल हो रहीं थीं। तीनों बीवियां बड़ी निडर, साहसी और बोल्ड थीं।

रात के साढ़े ग्यारह बज चुके थे।
अब नया साल आने में बस आधे घंटे का समय ही बाकी था।

देखते ही देखते तीनों बीवियां एकदम नंगी हो गईं।
उनको नंगी देख कर मर्दों के लण्ड में गज़ब का करंट लग गया।

तब बीवियों ने एक दूसरे के पति को फटाफट नंगा कर दिया।
सबके लण्ड टनटना खड़े हो गए।

आशीष की बीवी नंगी नंगी मेरा लण्ड पकड़ कर हिलाने लगी, बोली- बाप रे बाप … क्या मस्त लौड़ा है नेहा तेरे पति का?

उधर मेरी बीवी नंगी नंगी रोहन का लण्ड पकड़ कर बोली- हाय मेरी बुर चोदी रूचि, तेरे पति का लण्ड तो भोसड़ा भी फाड़ डालेगा.

रूचि तब तक खुद नंगी होकर आशीष का लण्ड पकड़ कर चारों तरफ से घुमा घुमा कर देखने लगी थी।
वह बोली- अरे यार आरती, तेरे पति का मादरचोद लण्ड आज ही मेरी चूत का भोसड़ा बना देगा।

इन तीनों की मस्त मस्त बातों से सबके लण्ड बड़े ताव में आ गए।

मेरी बीवी रोहन का लण्ड चाटने लगी, रोहन की बीवी आशीष का लण्ड चाटने लगी और आशीष की बीवी मेरा लण्ड चाटने लगी।

यह सीन देख कर हम सब मस्त होने लगे।

बीवियां बड़ी शिद्दत से एक दूसरे के पति का लण्ड चाट चाट कर मज़ा लेने लगीं।

सबकी नज़र घड़ी पर थी क्योंकि सबको अपना लण्ड दूसरे की बीवी की बुर में 2021 में पेलना था और 2022 में निकालना था।

मुझे आरती भाभी का नंगा जिस्म बड़ा मज़ा दे रहा था।
फिर मुझसे रहा न गया और मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उसकी दोनों टांगें फैला दीं।

उसकी मस्तानी चूत मेरे सामने खुल गई तो मैंने लण्ड उसी पर रख दिया।

मैंने एक धक्का मारा तो लण्ड सरसराता हुआ पूरा अंदर घुस गया।

तब मैंने देखा कि रोहन भी मेरी बीवी नेहा की बुर में अपना पूरा लण्ड घुसा चुका है।
यह देख कर मैं और उत्तेजित हो गया।

फिर मेरे बगल में, आशीष एकदम नंगा नंगा रोहन की बीवी रूचि के ऊपर चढ़ बैठा, अपना लण्ड उसकी चूत में पेल दिया और गचर गचर चोदने लगा।

इस तरह हम तीनों लोग आमने सामने एक दूसरे की बीवी बिंदास चोदने लगे।

अपनी बीवी को दूसरे से चुदवाते हुए देख कर किसी और की बीवी चोदने का सुख सच में बड़ा अच्छा होता है.
यही सुख हम तीनों लेने लगे।

अपनी बीवी को किसी और से चुदते हुए देखने में भी बड़ा मज़ा आता है।
मुझे यह अहसास हो गया कि हर एक बीवी पराये मर्द के लण्ड से ज्यादा मस्ती से चुदवाती है।

आरती भाभी मस्ती में बोली- हाय मेरे निखिल राजा, तेरा लण्ड बड़ा मज़ा दे रहा है। आज मुझे सबसे ज्यादा मज़ा आ रहा है, मुझे खूब चोदो। मेरे पति के सामने फाड़ डालो मेरी फुद्दी … क्या मस्त लौड़ा है तेरा! ऐसा ही लौड़ा मेरी चूत का बाजा बजा सकता है। मैं ऐसे ही लण्ड के लिए तरस रही थी।

उधर से रूचि बोल पड़ी- हाय मेरी बुरचोदी आरती, तेरा पति का लौड़ा मेरी चूत के चीथड़े उड़ा रहा है। बड़ा अच्छा लग रहा है यार! तूने अपने पति से मेरी चूत पहले क्यों नहीं चुदवाई? हाय आशीष … चोदे जाओ मेरी चूत। पूरा लौड़ा घुसा घुसा के चोद … पटक पटक के चोद मुझे!

मेरी बीवी नेहा भी पूरी मस्ती में थी।
वह भी कुछ न कुछ बोले चली जा रही थी- हाय रोहन, हाय मेरे राजा, तेरा लण्ड मेरी तमन्ना पूरी कर रहा है। मुझे पराये मरद से चुदवाने की बड़ी इच्छा थी, देखो आज चुदवा रही हूँ। पूरा मज़ा ले रही हूँ। आज रोहन मुझे मेरे पति के आगे चोद रहा है। कितना मज़ा आ रहा है. मुझे तो अपने पति को आशीष की बीवी चोदते हुए देखने में भी आ रहा है। मैं यही तो कह रही थी अपने पति से की कभी किसी और बीवी चोद कर देखो. कभी अपनी बीवी किसी और से चुदवा कर देखो. मेरा पति मेरी बात मान गया और आज देखो वह आशीष की बीवी चोद रहा है और मुझे रूचि के पति रोहन से चुदवा रहा है। पति हो तो मेरे पति जैसा! लण्ड हो तो रोहन के लण्ड जैसा!

इन सब बातों से चुदाई का मज़ा दुगुना हो गया।

अब बस 2 / 3 मिनट ही बाकी थे नया साल आने में!

सबकी नज़रें टी वी पर लगीं थीं।
इधर हम तीनों ने चोदने की स्पीड बढ़ा दी।

इतने में टी वी से आवाज़ आयी- HAPPY NEW YEAR.
हम सबने भी कहा ‘HAPPY NEW YEAR’

हमारे लण्ड अभी भी चूत में घुसे हुए थे।

हम सब एक दूसरे की बीवी अपनी तरफ खींच कर पूरे जोश में चोदने लगे।

जैसा ही 5 मिनट हुए तो हमारे लण्ड झड़ने लगे।

आशीष की बीवी ने मेरा झड़ता हुआ लण्ड चाटा, रोहन बीवी ने आशीष का झड़ता हुआ लण्ड चाटा और मेरी बीवी ने रोहन का झड़ता हुआ लण्ड चाटा।

इस तरह लण्ड चूत में 2021 को घुसा और 2022 में चूत से बाहर निकला और फिर हमने अंदर पेल दिया।

कुछ देर तक हम सब नए साल में भी एक दूसरे की बीवी चोदते रहे।
बीवियां भी बड़े मजे से चुदवातीं रहीं।
उनको शायद हमारे से ज्यादा मज़ा आ रहा था।

आखिर में एक एक करके लण्ड झड़ने लगे और सबने झड़ते हुए लण्ड चाटे।

उसके बाद नए साल का केक काटा गया; केक सबको बांटा गया।

मर्दों ने बीवियों की चूत पर, चूतड़ों पर और चूचियों पर केक लगाया और खूब प्यार से चाटा।
बीवियों ने भी सबके लण्ड पर, पेल्हड़ पर केक लगाया और मस्ती से चाटा।

वाइफ चेंज Xxx का सबने खूब एन्जॉय किया।

फिर बाथरूम से नहा धोकर सब लोग वापस आ गए।

खूब बातें होने लगीं.
सबके चेहरे खिले हुए थे, सभी चुदाई के नशे में थे।

धीरे धीरे फिर चुदाई का माहौल बनने लगा।

इस बार मेरी बीवी नेहा ने आशीष का लण्ड पकड़ लिया.
आशीष की बीवी आरती ने रोहन का लण्ड पकड़ लिया.
और रोहन की बीवी रूचि ने मेरा लण्ड पकड़ लिया।

फिर क्या … मैंने बड़े मजे से रोहन की बीवी चोदा।
रोहन ने आशीष की बीवी चोदी.
और आशीष ने मेरी बीवी चोदी।

यह चुदाई अब पूरी तरह 2022 की चुदाई थी।
नए साल का पहला ही दिन था।

शाम को मेरा दोस्त प्रकाश अपनी बीवी मिहिका के साथ आ गया।
मिहिका को देख कर मेरा लण्ड खड़ा हो गया।

उधर मेरी बीवी भी प्रकाश पर मोहित हो गई।
वह मुझे अंदर ले जाकर बोली- अब आज तो मैं प्रकाश से चुदवाऊंगी। तुम उसकी बीवी चोद लो।

मैं तो उसकी बीवी चोदना चाहता ही था।

फिर क्या … मेरी बीवी ने मिहिका से खुल कर बात की और मैंने भी प्रकाश से खुल कर कहा।
दोनों राज़ी हो गए।

फिर मैंने रात भर प्रकाश की बीवी प्रकाश के सामने चोदी।
प्रकाश ने मेरी बीवी मेरे सामने चोदी।

तो प्यारे दोस्तो, कैसी लगी मेरी वाइफ चेंज Xxx कहानी?
[email protected]

लेखिका की पिछली कहानी थी: मेरी चुदक्कड़ अम्मी ने लगा दिया मुझे लण्ड का चस्का

About Antarvasna

Check Also

जवान बीवी की चूत चुदाई दोस्त से होते देखने का मजा-3

This story is part of a series: keyboard_arrow_left जवान बीवी की चूत चुदाई दोस्त से …