उत्तराखण्ड में रिसॉर्ट का रोमांच भरा सेक्स- 2

टीजिंग पोर्न सेक्स कहानी में देखें कि बीवी के साथ मैं रिसोर्ट के स्विमिंग पूल पर गया तो मेरी पत्नी ने बहुत छोटी बिकिनी पहनी थी. सब लोग उसके नंगे बदन को देख रहे थे.

फ्रेंड्स, रीना और कपिल के रोमांचक सहवास से भरी इस सेक्स कहानी में आपका पुन: स्वागत है.
कहानी के पहले भाग
सेक्सी बीवी से अंग प्रदर्शन की चाह
में अब तक आपने पढ़ा था कि रीना और कपिल की दमदार चुदाई के लिए मुख मैथुन चल रहा था.

अब आगे टीजिंग पोर्न सेक्स कहानी:

ऐसे ही कई मिनट बीत गए. लंड की दोनों गोलियां व लंड रीना की लार से तरबतर हो गए थे.

‘ओह, बेबी. मुझे तुम्हारे मुँह में रहना बहुत अच्छा लगता है. इसी आनन्द के लिए मैं तरसता हूं.’
रीना ने जवाब दिया- मुझे आपको खुश करना अच्छा लगता है.

कपिल रीना की चूत चाटने में व्यस्त था, वो उसकी भग्नासा और चूत के होंठ चूस रहा था. उसका अंगूठा चूत के छेद के अन्दर घूम रहा था.

इससे कुछ ही देर में रीना की चूत ने पानी छोड़ दिया था; उसका रस बाहर निकलने लगा था.

कपिल के अंगूठे ने रीना की गांड के छेद को रगड़ना शुरू कर दिया था.
पूरा कमरा मादक आहों, कराहने की आवाजों और शरीर पर हल्के थप्पड़ों की आवाज से भर उठा था.

रीना ने अपना सिर बिस्तर पर रख दिया और उसके पैर हवा में फैल गए थे.
इससे उसकी गांड हवा उठ गई थी.

कपिल नीचे झुक गया. वो चूत के होंठों और गांड के छेद को चाटने लगा.
वह अपने हाथों को रीना के कूल्हों पर रख कर खड़ा हो गया और अपने लंड के मुंड से चूत के होंठों को रगड़ने लगा.

धीरे-धीरे उसकी योनि के होंठ अलग हो गए, लंड उसके होंठों के ऊपर से फिसल कर गंतव्य की ओर बढ़ गया.
जब तक उसकी गोटियां गांड को नहीं छूने लगीं, तब तक लंड इंच दर इंच घुसता गया.
अन्दर, फिर लगभग पूरा बाहर.

रीना की मादक आहें उसे कामोन्मुख करती जा रही थीं.

तब कपिल ने गति को और बढ़ा दिया. उसकी गोटियां हर बार गांड से फट फट की आवाज करती हुई टकराने लगी थीं.

कपिल का लंड मानो चूत के हर हिस्से की पड़ताल कर रहा था.
उसके हाथ और उंगलियां गांड के छेद, स्तनों और निपल्स से खेलने लगे थे.

अब आसन बदल गया, रीना पैरों को फैलाकर अपनी पीठ के बल लेट गई.
कपिल अपने घुटनों पर बैठ कर अपने फनफनाते लंड को रीना की नम चूत में धकेलने लगा.

प्रगाढ़ आलिंगन में लेकर उसने लंड को दबा दे दी.
रीना ने आह करके अपनी टांगों से कपिल की कमर को कस लिया.

लंड ने अन्दर घुस चूत का कचूमर बनाना शुरू कर दिया.

कुछ ही मिनटों में, रीना ने लंड का मजा लेते हुए कहा- हां और तेज, बहुत अच्छा लग रहा है … बस मैं आने वाली हूं.
यह कहते हुए ही रीना की चूत ने हार मान ली.

अब लंड एकदम से सटासट अन्दर बाहर होने लगा.
कपिल ने कहा- तुम्हारी चूत में बहुत फिसलन हो रही है. मेरा लंड इधर-उधर जा रहा है.

रीना अपनी चूत के भग्नासा को दो उंगलियों से जोर जोर से रगड़ने लगी. उसका शरीर कांपने लगा था.
उसके शरीर की गहराई में, गति की एक लहर शुरू हो गई थी, जो पूरे शरीर में फैलने लगी थी.

उसी दौरान रीना के शरीर में कई बार झटके लगने लगे और उसका चर्मोत्कर्ष आ गया.
कपिल अभी भी पूरे जोश से पंप कर रहा था, उसका लंड भी जल्द ही योनि में गहराई में फट गया.

उन दोनों की जोड़ी लगभग साथ में ही निढाल होने लगी थी.

‘क्या तुमने महसूस किया कि मेरे गर्म और ताजा वीर्य की योनि के अन्दर मार की है?’
‘हां, जानेमन. यह एक जादुई क्षण है, जब हम दोनों एक साथ आते हैं.’

कपिल ने रीना के शरीर को दबाया और उसके कान में फुसफुसा दिया- मुझे तुम्हें चोदना और तुम्हारे अन्दर रहना पसंद है जान!
रीना ने उसे कान के पास चूमते हुए उत्तर दिया- धन्यवाद जान … मुझे खुशी है कि मैं आपको इतनी खुशी देती हूं.

धीरे-धीरे कपिल का लंड छोटा हो गया
और अंततः चूत ने उसे बाहर फेंक दिया.
युगल एक-दूसरे की बांहों में बिस्तर पर लुढ़क गए.

एक लम्बी नींद के बाद दोनों की नींद लगभग एक साथ टूटी.

दीर्घ चुम्बन लेते हुए कपिल रीना के कान में फुसफुसाया- आई लव यू.
‘आई लव यू टू..’ रीना भी फुसफुसा दी.

शाम के 4:00 बज चुके थे.
युगल अभी भी एक दूसरे की बांहों में लिपटे हुए एक दूसरे को देखकर मुस्कुरा रहे थे.

उनका स्विमिंग पूल जाने का प्रोग्राम बन गया था.
रीना को टू पीस स्विमसूट कुछ ज्यादा ही छोटा लग रहा था लेकिन मर्जी पति परमेश्वर की थी.
वो अपने नंगे बदन के ऊपर स्विम सूट पहनने लगी.

इस स्विम सूट में वास्तव में उसकी अधिकांश ब्रा और पैंटी की तुलना में उसके स्तनों, कमर और नितंबों की काफी कम कवरेज थी.

दोनों निक्कर और टी-शर्ट पहन कर स्विमिंग पूल के लिए निकल गए.

आउटडोर स्विमिंग पूल में और भी कई युगल थे लेकिन अधिकांश महिलाएं वन पीस स्विमसूट में थीं.

उनकी तुलना में, रीना का लाल रंग का टू पीस सूट बहुत ही सेक्सी था.
उसके शरीर के एक एक कटाव स्पष्ट दिख रहे थे.

रीना एक झिझक के साथ चेंजिंग रूम से बाहर आई.
वहां उपस्थित सभी लोगों की निगाहें उस पर चिपक गईं.

कपिल आहें भरता हुआ रीना को देखने लगा.
अपनी सुंदर सेक्सी पत्नी पर उसे फक्र महसूस हो रहा था.

वे पूल के किनारे रखी लम्बी चेयर की जोड़ी पर लेट गए.

रीना बहुत ही नर्वस थी. अन्दर ही अन्दर उसे घबराहट हो रही थी.
लेकिन रोमांच भी महसूस हो रहा था.

उसे अंदाज था कि उपस्थित अन्य लोग उसकी चोरी छुपे फोटो खींच रहे हैं.
थोड़ी देर में कपिल ने पानी में उतरने का प्रोग्राम बनाया.

पानी ठंडा था. रीना की चूचियां कठोर और निप्पल सख्त हो उठे. वो ब्रा के ऊपर से स्पष्ट दिख रहे थे.
थोड़ी देर पानी में दोनों अठखेलियां करने लगे.

रीना किसी जलपरी की तरह उधर से उधर तैर रही थी, वो कभी गहरे पानी में अन्दर चली जाती, तो कभी एकदम पानी से बाहर निकल आती, उसके उरोज ऊपर नीचे हिल रह थे और जबरदस्त टीजिंग पोर्न नजारा पेश हो रहा था.

कुछ देर बाद कपिल पूल से बाहर निकल आया, उसके हाथ अब कैमरे के बटन पर जम गए थे.
वो रीना की कुछ तस्वीरें खींचने लगा.

रीमा पूल से धीरे धीरे बाहर निकल आई थी. उसका स्विमसूट भीग कर शरीर से चिपक गया था.
अगर सूट स्किन कलर का होता तो वो एकदम नंगी दिखाई देती.
उसके निप्पल और चूत की फांकें एकदम साफ़ नुमाया हो रही थीं.

उत्तेजना से कपिल का रक्त प्रवाह बढ़ गया था.
रीना कपिल के बगल वाली लांज पर लेट गई.

कुछ पल बाद दोनों ने चेंजिंग रूम में जाकर कपड़े बदले और हाथ में हाथ लेकर वापस कॉटेज की तरफ चल पड़े.

‘क्या आप संतुष्ट हुए?’ रीना ने पूछा.
‘आज तो तुमने आग लगा दी जानेमन, मुझे तुम पर गर्व है, मैं बहुत भाग्यशाली हूं, जो तुम्हारी जैसी सेक्सी पत्नी मिली.’ कपिल कृतज्ञ भाव से बोला.

वापस अपने कॉटेज कंपाउंड में आकर कपिल और रीना ने कॉटेज के पिछवाड़े में जाने का प्रोग्राम बनाया.
पीछे लगभग सौ फीट लंबाई और सिरे पर पचास फीट की चौड़ाई थी, जो कॉटेज के पास थोड़ी ज्यादा थी.

सिरे पर कैंप फायर की भी व्यवस्था थी. एक छोटी सी चारों तरफ से खुली हट थी, जिसके मध्य के कंक्रीट पिलर पर स्लोप वाली गोल आकार की छत थी, तथा दो सीमेंट की बेंचे रखी थीं.
वहां तक जाने के लिए ब्रिक लाईनिंग का तीन फीट चौड़ा रास्ता बना था. दो तीन जगहों पर लो लेवल फुट लाइटें लगी थीं.

हट के पास एक छोटा सा लॉन लगा था.
दोनों थोड़ी देर बेंच पर बैठ कर कुदरत के नजारे का आनन्द लेने लगे.
थोड़ी फोटो ग्राफी की.

जल्द ही अंधेरा होने लगा.
वापसी में बगल की कॉटेज में टहलता एक अधेड़ कपिल को दिखाई दिया.

हैलो हाय के बाद थोड़ी बातचीत हुई.
सुबह उनका पास के जंगल में एक मंदिर जाने का प्रोग्राम था.
ग्यारह बजे तक वापस आकर चैक आउट था.

कपिल और रीना कॉटेज में वापसी की तैयारी करने लगे.
शीघ्र ही वो फॉर्मल कपड़ों में आ गए.

रीना अपने हाथ में एक एक स्तन रख कर उन्हें अलग-अलग तरीकों से हिलाने लगी.
गोलाकार, एक साथ, अलग-अलग ऊपर नीचे करती हुई वो झुक गई ताकि स्तन नीचे लटक जाएं.

सामने डिजिटल कैमरा काम कर रहा था.

‘क्या आप मुझे स्वयं अपने स्तनों को हिलाते देखना पसंद करते हैं?’ रीना ने पूछा.
‘हां, तुम्हें खुद के साथ खेलते हुए देखने में मुझे बड़ा मज़ा आता है. तुम्हारे स्तन, निपल्स, भग्नासा और चूत इन सभी के साथ जब तुम खेलती हो तो मेरी उत्तेजना हद से ज्यादा बढ़ जाती है.’

‘ओके फिलहाल मुझे बाथरूम जाने की जरूरत है.’
कपिल ने कहा- हां हां जाओ.
रीना इठला कर बोली- मुझे लगता है कि आप मुझे पेशाब करते देखना भी चाहोगे.

कपिल- ओ हां … लेकिन दूर से और मेरे डिजिटल कैमरे के साथ.
उसका जवाब सुनकर रीना मुस्कुरा कर बोली- मगर मैं वास्तव में नहीं चाहती कि आप मेरी पेशाब करते हुए तस्वीरें लें. प्लीज़ ऐसा न करें.
लेकिन कपिल दृढ़ था.

‘मैं टब में पेशाब करते हुए तुम्हारी तस्वीरें लेने आ रहा हूं. मैं चाहता हूं कि तुम्हारे पैर चौड़े हों और चूत के होंठ फैले हुए हों. मैं तुम्हारी चूत में पेशाब के छेद से धार निकलते हुए देखना चाहता हूं.’

रीना ने हां कर दिया और वो बाथरूम में आ गई.
उसने बाथटब में कदम रखा और अपने पैर फैला दिए.

अपनी उंगलियों का प्रयोग करके उसने अपनी चूत के होंठों को फैलाया.

कपिल अपने घुटनों पर आ गया. उसका डिजिटल कैमरा तैयार था.
पेशाब आना शुरू हो गया.

कई बूंदें, एक कमजोर सी पतली धार आई, फिर एक मोटी सी धार के साथ कुछ छोटी छोटी सी पिचकारियां, फिर कुछ बूंदें.
बाथरूम की पर्याप्त रोशनी में उसकी जांघों और निचले पैरों पर पेशाब की बूंदें से लाइट परावर्तित होकर एक अलग सा सीन दिखा रही थी.

पेशाब के बाद दोनों साथ में स्नान करके वापस बेडरूम में आ गए, थोड़ा आराम करने लगे.

उसके बाद डिनर कमरे में ही मंगाया गया.
वेटर के बेल बजाने पर बाहर बरामदे में ही खाना रखने के लिए कहा गया.

रीना शरारत से बोली- खाना उठाने के लिए कपड़े पहनूं या ऐसी ही नंगी चली जाऊं?

कपिल को ये मजाक लगा, उसने कहा- अगर तुमने ये कर दिखाया तो सेक्स टू डू लिस्ट में तुम भी कोई अपनी फैंटेसी शामिल कर सकती हो.
रीना ने कपिल की बात सुनकर अपने सर को हल्की सी जुम्बिश दी और दरवाजे की ओर बढ़ गई.

उसने आहिस्ता से थोड़ा सा दरवाजा खोला और चोर निगाहों से कपिल की तरफ़ देखा कि शायद वह मना करेगा.
लेकिन कपिल तो उत्सुकता से उसकी ओर देख रहा था. उसने हाथ से इशारा करते हुए उसे बाहर जाने के लिए उत्साहित किया.

बरामदे के बाहर लाइट के कारण पर्याप्त रोशनी थी.
रीना की धड़कनें तेज हो गई थीं, वो ऐसा काम करने वाली थी, जो उसने स्वप्न में भी नहीं सोचा था.

दरवाजा खोल कर वो धीरे से बाहर निकल गई … एकदम नग्न.
सामने दूर तक सड़क और दूसरे कॉटेज दिखाई दे रहे थे.

इक्के दुक्के लोग सड़क पर थे.
वो हिम्मत करके आगे बढ़ी.

खाने की ट्रे बीस-पच्चीस कदम दूर रखी थी. वो उधर तक एकदम नंगी गई और खाने की ट्रे उठा कर उल्टे पैर तुरंत कमरे में वापस आ गई.
कपिल कैमरे पर लगातार व्यस्त था.

वह अन्दर आई और खाने की ट्रे रख कर सीधे कपिल की बांहों में लिपट गई.
उसकी दिल की तेज धड़कनें कपिल को स्पष्ट महसूस हो रही थीं.

‘आखिर तुमने कर दिखाया मेरी जान, आई लव यू.’ कपिल चुंबन लेते हुए बोला.
‘ये बिल्कुल आसान नहीं था, लेकिन बहुत रोमांचक था.’ रीना इठलाती हुई बोली.

डिनर पर दोनों इधर उधर की बातें करते रहे.

फिर दोनों फोटोग्राफ देखने में व्यस्त हो गए.
फोटो बहुत ही कमाल के थे.

हर एक्ट चाहे वो न्यूड मोडलिंग का हो या स्ट्रिप डांस, लिंग चूसने और चुदने में रीना के हाव-भाव, सभी में वो बिल्कुल पोर्न स्टार के जैसी लग रही थी.
चूत चाटने में कपिल ने कमाल ही किया था, उसकी जीभ ने चूत और गांड का कोई हिस्सा नहीं छोड़ा था. जीभ से चूत चोदन अलग लेवल का था.

‘अविश्वसनीय … क्या ये हम हैं?’
रीना की आंखों में एक नशा सा छा गया था; उसकी चूत फिर से कुलबुला उठी थी.

कपिल ने कहा- मैं एक और फेशन शो देखने के लिए उत्साहित हूं.
रीना सीढ़ी चढ़ कर बेडरूम में चली गई.

रीना ने इस बार कपड़े पहनने में एक लंबा समय लिया, जिन्हें जल्द ही उतार दिया जाना था.

उसने शरीर से चिपकी नितंबों से थोड़ी नीचे तक रेड लेदर ड्रेस पहनी थी.
जहां से उसकी गोल गांड शुरू होती है, वहां तक साइड कट लगा था.
साइड कट एक पैर और उसकी गांड के निचले हिस्से को ड्रेस से अलग कर रहा था.

वह वापसी में घूमते हुए झुक गई और पोशाक को अपनी गांड के ऊपर खींच लिया.

उसने काले रंग की क्रॉच-लैस पैंटी भी पहनी हुई थी जो पतली काली पट्टियों से बनी थी और कुछ भी नहीं ढक रही थी.
कपिल उसके थोड़े ढके हुए नितम्बों को देखता कर मुस्कुरा उठा.

चूत की दरार साफ दिखाई दे रही थी.
डिजिटल कैमरा अपना काम कर रहा था.

रीना खड़ी होकर मुड़ी और धीरे-धीरे अपने पति की ओर चलने लगी.

एक ज़िप उसकी नाभि के नीचे से पोशाक के गले तक लगी थी.
उसके स्तन पूरी तरह से ढके हुए थे, लेकिन ऐसा लग रहा था कि वे अपनी स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

धीरे-धीरे रीना ने जिप नीचे खोलना शुरू कर दिया.
उसके स्तन आज़ाद हो गए.

अब जैसे जैसे रीना कपिल की ओर चलती गई, उसकी लाल ड्रेस उतरती चली गई.
कपिल के पास पहुंचने तक सिर्फ क्रॉच-लैस ब्लैक पैंटी रह गई थी.

तस्वीरें ली जा रही थीं.

रीना के नजदीक आते ही कपिल की धड़कनें बढ़ गई और वो बोला- मुझे ये क्रॉच-लैस ब्लैक पैंटी बहुत पसंद है.

‘आपको तो बस मेरे स्तन और गुलाबी चूत ही देखना पसंद है.’
‘हो सकता है … लेकिन छूना, सहलाना और चोदना अच्छा है या केवल देखना!’

‘हां, मुझे बहुत आनन्द मिलता है, जब आप हाथ, उंगलियां, मुँह और लंड से मुझे मजा देते हैं.’
‘आज तुम्हें पहले से ही बहुत आनन्द मिला है … और अब उससे भी अधिक प्राप्त करने जा रही हो. तुम और भी बहुत कुछ लोगी.’

‘आप मुझे चाटना, चूसना और चोदना चाहते हो?’
‘हां.’

कपिल धीरे से रीना की चूत के होंठों को सहलाने लगा.
उसकी मध्यमा उंगली रीना की नम गुफा में घुस गई.

रीना कपिल के करीब खड़ी थी.
कपिल उसे उंगली से चोद रहा था.

रीना की नम योनि में पहले एक उंगली, फिर दो उंगलियां, फिर तीन उंगलियां लगातार ऊपर-नीचे हो रही थीं.
कपिल का अंगूठा रीना की चूत के दाने को सहला रहा था.

इस दौरान उसका लंड फूल गया था.

चुदाई की इस मस्त उत्तेजक टीजिंग पोर्न सेक्स कहानी में आपको कैसा लग रहा है, प्लीज़ अपने विचारों से अवगत कराएं, ताकि मैं सेक्स कहानी का अगला भाग और भी कामुक शब्दों से लबरेज करके लिख सकूँ.
[email protected]

टीजिंग पोर्न सेक्स कहानी का अगला भाग: उत्तराखण्ड में रिसॉर्ट का रोमांच भरा सेक्स- 3

About Antarvasna

Check Also

घर की सुख शांति के लिये पापा के परस्त्रीगमन का उत्तराधिकारी बना-1

This story is part of a series: keyboard_arrow_right घर की सुख शांति के लिये पापा …