इंस्टाग्राम पर मिली शादीशुदा लड़की को पटाकर चोदा

डर्टी गर्ल नेट सेक्स कहानी मुझे सोशल मीडिया से मिली एक मैरिड लड़की के साथ सेक्स की है। उसके चूचे बहुत बड़े थे, वो मुझे बहुत पसंद आ गई। मैंने उसे पटाकर चोदा.

दोस्तो, मेरी उम्र 26 साल है, मेरा नाम जुनैद है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ।
मेरी हाइट 5 फ़ीट 7 इंच है और मेरे लंड का साइज औसत ही है।

कुछ महीने पहले तक मैं वर्जिन ही था।
ऐसी ही उधेड़-बुन की वजह से मैंने अब तक सेक्स करने की कोशिश नहीं की थी।

ज्यादातर लड़कों के मन में अपने लंड के साइज को लेकर दुविधा सी रहती है कि मेरा लंड छोटा तो नहीं, कोई लड़की देखेगी तो क्या सोचेगी?

यह मेरी पहली स्टोरी है। जिसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने इंस्टाग्राम पर मिली लड़की को उसी के घर पर जाकर चोदा।

तो यह डर्टी गर्ल नेट सेक्स कहानी शुरू होती है अबसे लगभग 4 महीने पहले। इंस्टाग्राम पर मैं फेक प्रोफाइल बना कर अपनी पुरानी गर्लफ्रेंड की प्रोफाइल में ताकझांक करता रहता था।

मेरा उससे कुछ समय पहले ब्रेकअप हो चुका था।
ऐसे ही एक बार प्रोफाइल खंगालते हुए मुझे सिमरन नाम की लड़की की प्रोफाइल मिली।
उसने कोई इंस्टाग्राम की स्टोरी लगाई हुई थी तो मैंने उस पर कमेंट कर दिया।

मुझे उम्मीद तो नहीं थी कि उधर से कोई रिप्लाई मिलेगा.
लेकिन जब सुबह उठ कर इंस्टाग्राम खोला तो उसका रिप्लाई आया हुआ था।

इस तरह हमारी दोस्ती की शुरुआत हुई और रोजाना हमारी हल्की-फुल्की बातचीत होने लगी।

मुझे वो पहली नजर में ही पसंद आ गई थी।

मैं सिमरन के बारे में आपको बता दूं कि वो 20 साल की है, रंग थोड़ा सांवला है लेकिन फिगर तो गजब का है।
उसके चूचों का साइज 38 है।

मैं क्या, कोई भी उन्हें देख कर पागल हो जाएगा।

वो भी दिल्ली की ही रहने वाली थी लेकिन फैमिली प्रोब्लम्स की वजह से 1 साल पहले ही उसकी शादी हो चुकी थी।
तो मेरी उससे बात हो रही थी।
घर का काम करने के बाद वो ऑनलाइन आती और हमारी घंटों तक बात होने लगी।

धीरे-धीरे हम खुलने लगे.
वो अपनी सेक्स लाइफ के बारे में भी बताने लगी कि आज उन्होंने सेक्स इस पोजीशन में किया, आज ये पहनकर किया वैगरह वगैरह।

इस तरह रोजाना नेट सेक्स की बात करते हुए पता ही नहीं चला कि हमें कब प्यार हो गया।

धीरे-धीरे हमारे बीच प्यार भरी बातें होने लगीं और मोबाइल नम्बर भी एक दूसरे को दे दिए।

ऐसे ही एक महीना कैसे निकल गया, पता ही नहीं चला।
फिर उसे पीरियड्स में कुछ दिक्कत होने लगी जिसकी वजह से उसने अपने घर यानि मायके (दिल्ली) आना पड़ा।

आज तक हमारी सिर्फ फ़ोन कॉल और वीडियो कॉल पर ही बात हुई थी।
उसके ठीक होने पर हमने मिलने का सोचा था।

हम उसके ठीक होने का इन्तजार करने लगे।

आखिरकार वो दिन आ ही गया जब हम पहली बार मिलने वाले थे।
हमने मिलने के लिए दिन और स्थान चुना और बताई हुई जगह पर मिलने पहुंच गए।

पहली बार मिल रहे थे तो हमने होटल वगैरह में न मिलकर किस सार्वजनिक जगह पर मिलना उचित समझा।
हमने वहां 4-5 घंटे साथ बिताये, बातें कीं, किस किया, मैंने चूचे भी दबाये, खाना-पीना किया और वापस आ गए।

अगले दिन उसने मैसेज करके बताया कि उसकी मम्मी कहीं काम से जा रही है लेकिन भाई घर पर ही है जिसे वो संभाल लेगी।
उसने कहा कि अगर आ सकते हो तो आ जाओ।
मैंने भी हां करने में देर नहीं लगाई।

जल्द से मैं उसकी बताई हुई जगह पर पहुंच गया।
वो भी कोल्डड्रिंक्स लेने के बहाने से मुझे लेने आ गयी।

हम फ़ोन पर बात करते हुए जा रहे थे, वो मुझे बता रही थी कि किस रास्ते से जाना है।

मैं उसके बताये घर में चला गया और पार्किंग में रुक गया।
पीछे से वो भी अंदर आ गयी।

उसके पार्किंग में आते ही मैं उसे किस करने लगा।
वो बोली- अभी रुको, पहले भाई को देख कर आती हूँ।
उसका भाई रूम में था।

फिर चेक करने के बाद उसने आराम से गेट खोला और मुझे अंदर बुला लिया।
हमने चुपचाप कोल्डड्रिंक्स पी और फिर उसने इशारे से वाशरूम में आने को बोला।

वाशरूम में घुसते ही हम एक दूसरे पर टूट पड़े।
मैं किस करते हुए खरबूजे से भी बड़े उसके चूचे दबा रहा था।

फिर उसने खुद ही अपने सारे कपड़े उतार दिए; वो डर्टी गर्ल देर नहीं करना चाहती थी।

उसे इस हालत में देख कर मेरी हालत ख़राब होने लगी।
मैं उसे सामने से पहली बार नग्नावस्था में देख रहा था।
वीडियो कॉल्स में तो काफी बार उसे नंगी देख चुका था।

उसके चूचे बहुत बड़े थे।
मैं दोनों हाथों से पकड़ कर उन्हें चूस और काट रहा था।
फिर मैं एक हाथ को नीचे ले गया तो उसकी चूत से पानी बह रहा था।

मैं नीचे बैठ गया और चूत से मुँह लगा कर उसे चाटने लगा।
मुँह लगाते ही उसकी आह निकल गयी। मैं पहली बार किसी की चूत चाट रहा था।

उसकी चूत भट्टी की तरह जल रही थी और नमकीन पानी के स्वाद से मुझे अलग ही मजा आ रहा था।

फिर मैं खड़ा हुआ और पैंट खोल कर उसे लंड मुँह में लेने को दिया।
वो मुँह में ले लेकर लंड को चूसने लगी।

लंड पर बाल होने की वजह से वो ज्यादा नहीं चूस पायी।
मैंने बाल साफ़ नहीं किए थे क्योंकि मुझे पता ही नहीं था कि यहाँ ये सब हो सकता है; मैं तो सिर्फ किस वगैरह का सोच कर ही आया था।

फिर वो उठी और घूम कर दीवार पर हाथ टिका कर खड़ी हो गयी।
मुझे समझ नहीं आया कि वो चुदवाने लिए तैयार हो गई है क्योंकि मैंने सेक्स करने का सोचा ही नहीं था, जिस वजह से मैं कंडोम भी नहीं लाया था।

फिर वो बोली- ऐसे ही कर लो, निकलने वाला हो तो बाहर कर लेना।

यह मेरा पहली बार था, इससे पहले मैंने कभी सेक्स नहीं किया था।

वो दीवार पर हाथ रख कर खड़ी थी।
उसकी गांड को मैंने थोड़ा बाहर निकाला और उससे एक पैर टॉयलेट सीट पर रखने को बोला जिससे लंड को सही से जगह मिल सके।

मैंने लंड को पकड़ कर चूत पर टिकाया और धक्का लगाया।
चूत गीली होने की वजह से लंड आराम से अंदर चला गया।

पहली बार मेरे लंड को चूत की ऐसी भयंकर गर्मी मिल रही थी, जिससे मैं जन्नत में पहुंच गया था।
लेकिन मेरा लन्ड चूत की गर्मी को सहन नहीं कर पाया और 3-4 धक्के लगाने पर ही मेरा निकलने को हुआ तो मैंने जल्दी से अपना लंड बाहर निकाल लिया और तभी मैं झड़ गया।

उस समय मुझे अपने आप पर बहुत गुस्सा आया कि इतनी जल्दी स्खलन हो गया।

हम दूसरा राउंड शुरू करते उससे पहले ही उसका भाई आकर वाशरूम का गेट बजा कर बोला- मुझे जाना है, जल्दी निकल!
हमने जल्दी से कपड़े पहने।

उसने अपने भाई से बोला- मुझे अभी थोड़ा टाइम लगेगा।
इसलिए उसका भाई वापस रूम में चला गया और मैं गेट खोल कर बाहर निकल आया।

सिमरन थोड़ी दूर तक मुझे छोड़ने भी आयी लेकिन उसने टीशर्ट के अंदर ब्रा नहीं पहना था इसलिए आधे रास्ते से वापस चली गयी।

घर पहुंच कर मैंने उसे मैसेज किया- सॉरी यार, मेरा इतनी जल्दी हो गया, तू ऐसे ही रह गई।

फिर उसने मुझे समझाया- अरे पागल है क्या, फर्स्ट टाइम में हो जाता है ऐसा! बाहर भी इतनी गर्मी थी, आकर तुम्हें आराम करने का भी टाइम नहीं मिला और वाशरूम में भी गर्मी हो रही थी। दूसरा राउंड हो नहीं पाया, नहीं तो और मजा आता।

यह सुनकर मेरा मन कुछ ठीक हुआ।

तो पहला अनुभव कुछ ऐसा ही रहा।

फिर अब हम रोज दिनभर फ़ोन पर वीडियो कॉल्स पर लगे रहते थे।
उसे नहाना भी होता तो साथ में फ़ोन लेकर जाती थी और मैं वीडियो कॉल पर उसे नहाते हुए देखता।

वो खाना भी खाती तो वीडियो कॉल पर!
एक हफ्ते बाद हम दोबारा बाहर मिले लेकिन इस बार भी पब्लिक प्लेस में! वहां हमने पहले की तरह ही किस वगैरह की।

उसी दिन उसने रात में बताया- कल मम्मी को मंदिर जाना है और भाई का एग्जाम है, घर पर कोई नहीं रहेगा, आओगे तो बताओ?

मैं ऐसा मौका कैसे छोड़ सकता था; मैं बोला- कोई जरूरी काम नहीं निकला तो जरूर आऊंगा।
सिमरन- इस बार कंडोम जरूर ले आना।
मैंने कहा- मैं नहीं लाऊंगा, मैंने आज तक कंडोम नहीं खरीदा है।

अगले दिन मैंने लंड के बाल साफ़ किए और रास्ते में से कंडोम खरीदा और पहुंच गया उसके घर!

वो पहले से मेरा इन्तजार कर रही थी क्योंकि उसके मम्मी और भाई पहले ही जा चुके थे।
उसने गेट खोला, मैं अंदर कमरे में चला गया।
गेट बंद करके वो भी आ गयी।

उस टाइम उसने नाइटी पहनी हुई थी जिसमें उसका फिगर गजब का लग रहा था।
उसने मुझे पानी लाकर दिया, एसी चलाया क्योंकि बाहर बहुत गर्मी थी जिसकी वजह से मुझे पसीने आ रहे थे।

हम बेड पर बैठ कर बातें करते हुए एक दूसरे की आँखों में देख रहे थे।
मैं बात करते हुए उसके चूचों को देखने लगा।

इतने में वो उठ कर मेरी गोद में आकर बैठ गयी।
मैंने उसके भारी भरकम चूचे दबाने शुरू किये तो पता चला उसने ब्रा ही नहीं पहनी थी।

मैं चूचे दबाते हुए ही उसे किस करने लगा।

थोड़ी देर किस करने के बाद मैंने उसकी नाइटी उतरवा दी, उसने अंदर कुछ नहीं पहना था।
हम दोबारा किस करने लगे तभी मैंने धक्का देकर उसे बेड पर लेटा दिया।

उसे इस तरह लेटे हुए देख कर अच्छे अच्छों का लंड पानी छोड़ दे।

मैं उसके 38 के चूचों को चूसने और काटने लगा। मैं धीरे-धीरे एक हाथ को चूत तक ले गया जो पहले ही बहना शुरू हो चुकी थी।
चूत में उंगली डाल कर मैं अंदर बाहर करने लगा।

चूचों को छोड़कर मैं नीचे आ गया और चूत को चाटने लगा।

इतने में ही उसने सिसकारी लेना शुरू कर दिया, वो मेरे सिर को पकड़ कर चूत में दबाने लगी।
फिर वो कहने लगी- अब डाल दे बहनचोद!

मैंने अपनी पैंट उतारी और खड़ा हो गया।
सिमरन- कंडोम तो लाये नहीं होगे तो पन्नी लगा कर करोगे क्या?
तभी मैंने जेब से कंडोम का पैकेट निकाल कर उसे पकड़ा दिया।

उसने कंडोम निकाल कर मुझे पहनाया और गांड के नीचे तकिया लगा कर लेट गयी।
मैंने देर न करते हुए लंड को चूत पर सेट किया और धक्के लगाना शुरू किया।

थोड़ी देर ऐसे ही करने के बाद हमने जगह बदली।
इस बार मैं नीचे लेट गया और वो ऊपर!

उसने चूत को लंड पर सेट किया और ऊपर-नीचे होने लगी।

हम दोनों इस समय पूरे जोश में थे।
पूरे कमरे में उसकी सिसकारियां गूँज रही थीं।
उसके धक्के मेरे लंड को अच्छे से निचोड़ रहे थे।

उस टाइम वो जिस तरह धक्कों के साथ चूत को रगड़ रही थी, उसके बारे में सोच कर अभी भी लंड सलामी देने लग जाता है।

थोड़ी देर में जब वो थक गयी तो मुझसे बोली- बहनचोद आराम से लेटा हुआ है, कब तक मैं ही करती रहूं!
यह सुन कर मैं हंसने लगा।

फिर मैंने नीचे से धक्के लगाने शुरू किये।

पूरे कमरे में सिर्फ फच्च-फच्च और उसकी सिसकारियों की आवाज गूँज रही थी।
मैं सोचता था कि लोग ऐसे ही बोलते हैं कि इतनी फच्च फच्च की आवाज होती है लेकिन तब पता चला जब पूरे कमरे में सिर्फ वही आवाज गूंज रही थी।

सिमरन एक बार पहले ही झड़ चुकी थी।
मेरा भी अब होने वाला था।
मैंने सोचा थोड़ा रुकता हूँ, सामान्य होने पर दोबारा शुरू करूँगा जिससे और टाइम तक टिक सकूँ।

मगर सेक्स के इस खेल में नया होने के कारण मैं कंट्रोल नहीं कर पाया और तेज तेज धक्के लगाते हुए झड़ गया।

फिर हम दोनों ऐसे ही नंगे लेट कर बातें करने लगे और बीच-बीच में किस करते रहे।
थोड़ी देर में मेरा लंड दोबारा जंग लड़ने के लिए तैयार हो गया और कंडोम पहन कर हम दोबारा शुरू हो गए।

इस बार मैंने उसे घोड़ी बना कर पीछे से डाल दिया।
मुझे उसकी गांड बहुत मस्त लगी, चुदाई करते टाइम मैं उसकी गांड को भी छेड़ रहा था।

गांड पर हाथ लगाते समय वो मना करने लगी।
उसने आज तक गांड में उंगली भी नहीं ली थी।

दो राउंड करने के बाद हमने साफ़ सफाई करके कपड़े पहने और फिर खाना खाया।

उसके भाई के आने का टाइम हो रहा था तो वो बोली- अब तुम जल्दी जाओ, भाई आने वाला है तो दिक्कत हो जाएगी।
लेकिन मेरा मन उसे छोड़ने का नहीं था। मैं दोबारा किस करने लगा और चूचे दबाने लगा। नाइटी के गले से ही चूचे निकालते हुए उसकी नाइटी भी फट गयी थी।

फिर मैं उसकी गांड दबाने लगा।
मैं बोला- मुझे तेरी गांड देखनी है।
उसने नाइटी ऊपर उठा ली तो मैंने उसकी गर्दन पकड़ कर उसे नीचे झुका दिया।

मैंने उसे टाइट पकड़ कर उसकी गांड में उंगली घुसा दी तो वो मुझे गाली देने लगी- भोसड़ी के … दर्द हो रहा है, मैंने आज तक अपने पति को भी नहीं करने दिया, उसने भी कई बार गांड मारने की कोशिश की थी।
लेकिन मैंने उसकी नहीं सुनी और उसे दबाये रख कर पूरी उंगली अंदर बाहर करने लगा।

फिर मैंने उसे छोड़ दिया क्योंकि उसके भाई के आने का समय हो गया था।
मैं उससे बोला- इस बार तो छोड़ रहा हूँ लेकिन अगली बार उंगली नहीं, लंड जायेगा इसमें!

इसके बाद हमने हाथ-मुँह धोये और मैं उसे किस करके घर के लिए निकल आया।
इसके 2-4 दिन बाद ही सिमरन अपने ससुराल चली गयी।

मुझे उम्मीद है हम दोबारा मिलेंगे और अबकी बार और ज्यादा मस्ती करेंगे।
हम अभी भी वीडियो कॉल पर बकचोदियाँ करते रहते हैं।

तो दोस्तो, आपको मेरी पहली चुदाई की पहली सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे जरूर बताना।
डर्टी गर्ल नेट सेक्स कहानी पर कमेंट में अपनी राय बताएँ या फिर मुझे नीचे दी गई ईमेल पर अपना मैसेज भेजें।
मेरा ईमेल आईडी है- [email protected]

About Antarvasna

Check Also

बस में मिली भाभी के साथ ओरल सेक्स

हैलो फ्रेंड्स, मैं अपनी स्टोरी लिखने से पहले अपना परिचय देना चाहता हूँ. मेरा नाम …